December 6, 2022

आसमान में नाचे ड्रोन, जमीं से दिखे कई नजारे: यूफोरिया बैंड ने बढ़ाया उत्साह, पलाश के गीतों पर जमकर थिरके युवा

wp-header-logo-296.png

news website
कोटा. दशहरा मैदान में सोमवार शाम को अंधेरा होते ही कोटा के आसमान में ड्रोन नाचे और एक से बढ़कर एक आकृतिक नजर आई। झिलमिलाती ड्रोन की लाइटें काले आसमान को रंगीन किया तो कभी राजस्थान की कला संस्कृति की रंगीली अदा को आसमान पर उकेर दिया। सोमवार को एक बार फिर रात रोशन हुई। ड्रोन लाइट शो और यूफोरिया पॉप बैंड शो आयोजित किया गया।
नेशनल डिफेंस एमएसएमई एक्सपो के तहत अंधेरा समेटे आसमान को झिलमिलाते-जगमगाते 250 ड्रोन ने सजा दिया। जैसे ही एक साथ इतने सारे ड्रोन हवा में उड़ते नजर आए लोगों खासकर बच्चों ने जोरदार तालियां बजाईं। इसके बाद अलग-अलग दिशाओं में ड्रोन एक के बाद एक विभिन्न प्रकार की आकृतियां बनाते चले गए।

हरी-पीली-नीली रोशनी बिखेरते ड्रोन्स ने जमीन से ऊपर उठने के बाद सबसे पहले पृथ्वी का नक्शा बनाया। इसके बाद से कभी भारत का नक्शा बनाया तो कभी आसमान में राजस्थान की संस्कृति की झलक दिखाई। राजस्थानी पगड़ी, मूंछ, घूमर करती महिला, ऊंट की आकृतियां, आई लव राजस्थान बनाईं। पधारो म्हारे देश की आकृति देखकर लोग उत्साहित हो गए। ड्रोन शो का समापन अगले माह गांधी नगर में होगा।



कोटा के टैलेंट को बढ़ावा देना है : बिरला
स्पीकर बिरला ने कहा कि ड्रोन शो आईआईटी दिल्ली में पढ़ रहे बच्चों के स्टार्ट-अप ने तैयार किया है। भविष्य में यह युवा 3500 ड्रोन का शो करने वाले हैं। हमारे देश के आईआईटीज में अधिकांशत: कोटा में रहे बच्चे पढ़ रहे हैं। यहां आने वाले प्रत्येक बच्चे में टैंलेंट हैं। हमें इस टैंलेट को आगे बढ़ाना है।
यूफोरिया बैंड ने बिखेरा जलवा
ड्रोन शो से पहले जैसे ही यूफोरिया बैंड स्टेज पर पहुंचा और डॉ. पलाश सेन ने गाना शुरू किया, वहां मौजूद एक-एक व्यक्ति झूमने लगा। रोक सको तो रोक लो से शुरू करते हुए उन्होंने अपने हिट गानों की झड़ी लगा दी। धूम पिचक धूम, कैसे भूलेगी मेरा नाम, आगे जाने राम क्या होगा, कभी आना तू मेरी गली जैसे गीत जैसे-जैसे गूंजते रहे वहां लोगों का थिरकना बढ़ता गया। राजस्थान की मिट्टी की खुश्बू समेटे राजा-राणी जी गीत को भी दर्शकों ने काफी पसंद किया।

Your email address will not be published. Required fields are marked *







This is the News Website by Chambal Sandesh
Rajasthan, Kota
THIS IS CHAMBAL SANDESH YOUR OWN NEWS WEBSITE

  • एजुकेशन
  • कर्नाटक
  • कोटा
  • गुजरात
  • Chambal Sandesh

    source

    About Post Author