July 1, 2022

Health Tips: Metabolic Flexibility में सुधार और ब्लड शुगर कंट्रोल करने के लिए इन आदतों को अपने रुटीन में करें शामिल

wp-header-logo-215.png

Health Tips: आपका शरीर बीमारियों से दूर रहे इसके लिए बहुत जरूरी है कि आप एक हेल्दी रुटीन (Healthy Routine) को फॉलो करते हों। खाने-पीने से लेकर उठने बैठने तक हमारी सभी आदतों का सीधा असर हमारी हेल्थ (Health) पर पड़ता है। मेटाबॉलिक लचीलापन (Metabolic Flexibility) हमारे शरीर की वो क्षमता है जिसमें हमारा शरीर जो भी ईंधन (ग्लूकोज या फैट) उपलब्ध हो उसमें से अनुकूलित ईंधन का उपयोग कर सके। जब आप मेटाबॉलिक रूप से असामान्य (Metabolic Inflexible) होते हैं, तो आपको थकान, बार-बार भूख लगना, बार-बार शुगर क्रेविंग, चिड़चिड़ापन, मूड स्विंग्स और एनर्जी क्रैश का अनुभव होने की अधिक संभावना होती है। यहां हम आपको कुछ हेल्दी हैबिट्स (Healthy Habits) के बारे में बताएंगे जो आपके मेटाबॉलिक लचीलेपन में सुधार करने में मदद करेंगी।
प्रोसेस्ड खाने को बंद करें
पैक किए गए भोजन में छिपी हुई चीनी और सोडियम सामग्री आपके ब्लड शुगर लेवल के साथ खिलवाड़ करती है। अपने किचन से प्रोसेस्ड खाने को बाहर निकाल दें, न ये घर में रहेंगे और न ही आपकी हेल्थ पर कोई बुरा असर पड़ेगा।
फास्टिंग
हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि अपने शुगर लेवल को कंट्रोल करने के लिए आपको दिन में कम से कम 12 घंटों की फास्टिंग करनी चाहिए। इसके लिए जरूरी है कि आप अपना डिनर शाम सात बजे से पहले कर लें। ताकि आपको फास्टिंग का पूरा समय मिल सके।
अच्छी और समय पर नींद लें
कभी-कभी खाने से भी ज्यादा खराब नींद हमारे ब्लड शुगर लेवल को अपने आप बढ़ा सकती है। आपका ब्लड शुगर कंट्रोल में रहे इसलिए आप अपनी अच्छी और पर्याप्त नींद का ध्यान रखें।
फैट के अनुकूल बनें
ब्लड शुगर के स्पाइक्स को प्रबंधित करने के लिए फैट बढ़ाएं और अपने आहार में कार्ब्स कम करें। लेकिन ऐसा करने से पहले, सुनिश्चित करें कि आपका शरीर फैट को अच्छी तरह से पचाने में सक्षम है।
Note: यहां दी गई जानकारी सामान्य ज्ञान पर आधारित है। इन्हें फॉलो करने से पहले एक बार एक्सपर्ट की सलाह अवश्य ले लें।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source