January 20, 2022

अलवर में बेलगाम अपराध!  गैंगरेप के बाद नाबालिग को पुलिया पर फेंका, एक घंटे तक तड़पती रही, हालत बेहद नाजुक

wp-header-logo-223.png

जयपुर। राजस्थान में महिलाओं और बेटियों के खिलाफ बढ़ रहे अपराध कम होने का नाम नहीं ले रहे है। प्रदेश में गैंगरेप, रेप और हत्या की घटनाएं आम हो गई है। अलवर जिले में अपराध पहले से बेलगाम है। यहां गैंगरेप की आए दिन घटनाएं सामने आती रही हैं। प्रदेश के अलवर में दरिंदों ने नाबालिग बच्ची का गैंगरेप कर पुलिया पर फेंक दिया। लहूलुहान पीड़िता एक घंटे तक पुलिया पर तड़पती रही। सूचना पर पहुंची पुलिस उसे स्थानीय अस्पताल ले गई। हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने देर रात नाबालिग को जेके लोन अस्पताल जयपुर रेफर कर दिया। जेके लोन अस्पताल में उसका ऑपरेशन किया जा रहा है। गैंगरेप के आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से दूर है।
सीसीटीवी फुटेल खंगाल रही है पुलिस
अलवर एसपी तेजस्वनी गौतम ने बताया कि नाबालिग के साथ गैंगरेप की यह तिजारा फाटक पुलिया की है। पीड़िता मूक बधिर है। उसका अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। आरोपियों की तलाश में कई टीमों को रवाना किया गया है। साथ ही आस-पास के इलाके के सीसीटीवी फुटेज भी खंगाले जा रहे हैं। उन्होंने कहा है कि जल्दी ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।
7 डॉक्टरों की टीम कर रही है इलाज
जेके लोन अस्पताल के अधीक्षक डॉ. अरविंद शुक्ला ने बताया कि 7 डॉक्टरों की टीम बच्ची का इलाज कर रही है। बच्ची को नुकीले चीजों से बुरी तरह घायल किया गया है। पुलिस का मानना है कि मालाखेड़ा के पास धवाला से नाबालिग का अपहरण किया गया है। इसके बाद बदमाश उसे सुनसान जगह लेकर गए।
कार में सवार थे दरिंदे
पुलिस को देर रात पता चला कि नाबालिग मूक-बधिर मंगलवार शाम करीब 4 बजे मालाखेड़ा से अलवर की तरफ आई थी। वह टैंपो में बैठी थी। उसके बाद गैंगरेप की वारदात हुई है। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि कार सवार लोगों ने नाबालिग को पुलिया पर फेंका है।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source