November 27, 2022

डायबिटीज से होगा बचाव अपनाएं ये कारगर उपाय

wp-header-logo-199.png

डायबिटीज एक ऐसी बीमारी है, जो शरीर के लगभग हर अंग पर बुरा असर डालती है। इसकी वजह से रक्त का प्रवाह कई अंगों में कम होने लगता है, जिससे हार्ट अटैक, ब्रेन स्ट्रोक, सेक्सुअल कमजोरी, हाथ-पैरों में बीमारी आदि समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं। मधुमेह के रोगियों में नर्व्स क्षतिग्रस्त होना, किडनी की समस्याएं, इंफेक्शन, न्यूमोनिया, इंफ्लूएंजा आदि से ग्रस्त होने की आशंका भी काफी अधिक रहती है। इसको दृष्टिहीनता की एक बड़ी वजह माना जाता है। इससे ग्रस्त महिलाओं में प्रेग्नेंसी संबंधी जटिलताएं भी ज्यादा होती हैं। एक ताजा अध्ययन से पता चलता है कि बॉर्डर लाइन डायबिटीज से पीड़ित (जिनका ब्लड सुगर लेवल जरा बढ़ा हुआ होता है) लोगों में डिमेंशिया होने की 67 फीसदी ज्यादा आशंका रहती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार कुछ उपाय अपनाकर इसकी रोकथाम करना काफी हद तक संभव है।

एक्सरसाइज करें

नियमित व्यायाम से ब्लड शुगर कम होता है, वजन घटता है और हार्ट डिजीज से भी प्रोटेक्शन मिलता है। जो डायबिटीज के रोगियों की मृत्यु का प्रमुख कारण है। हर रोज 20-30 मिनट टहलने की आदत डालें।

वसा कम लें

एक ग्राम वसा में 9 ग्राम कैलोरी होती है जबकि प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट में सिर्फ 4 ग्राम। आप वसा के सेवन में कटौती करके अधिक कैलोरी इनटेक से बच सकते हैं।
बैड कार्बोहाइड्रेट से बचें

चीनी, मैदा, चावल, सॉफ्ट ड्रिंक्स में प्रयुक्त स्वीटनर और प्रोसेस्ड फूड अच्छी चीजें नहीं हैं। इसमें फाइबर नहीं होने से ये सीधे और तेजी के साथ एब्जॉर्ब हो जाते हैं, जिससे ब्लड शुगर बढ़ जाता है। इससे पैंक्रियाज इंसुलिन उत्पन्न करने लगता है। लगातार ऐसा होने पर डायबिटीज की आशंका बढ़ जाती है।
गुड कार्बोहाइड्रेट लें

फल, सब्जियां, साबुत अनाज, लेग्यूम, सोया आदि फाइबर के समृद्ध स्रोत हैं। इनके सेवन से पेट जल्दी भरता है, जिससे आप ओवरईटिंग से बच सकते हैं। इससे आपका ब्लड शुगर नियंत्रण में रहेगा।

मेडिटेशन करें

स्ट्रेस की स्थिति में शरीर ऐसे हार्मोन उत्पन्न करता है, जो ब्लड शुगर को बढ़ा सकते हैं। क्रॉनिक स्ट्रेस से शरीर इंसुलिन रेजिस्टेट हो सकता है, जिससे डायबिटीज हो सकता है। इसलिए मेडिटेशन का सहारा लें और तनाव मुक्त रहें।

इन्हें करें डाइट में शामिल

अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी में प्रस्तुत एक ताजा शोध के मुताबिक मेडिटरेनियन स्टाइल डाइट डायबिटीज होने का रिस्क 21 फीसदी घटा देती है। इसके तहत ताजे फल, सब्जियां, साबुत अनाज, बींस, मेवे, मछली और ऑलिव ऑयल का सेवन किया जाता है। हार्ट डिजीज के खतरे से जूझ रहे लोगों में यह डायबिटीज होने का डर 27 फीसदी तक कम कर सकती है। ‘दी जर्नल ऑफ न्यूट्रीशन’ में प्रकाशित एक शोध के मुताबिक मेडिटरेनियन डाइट कार्डियोवैसकुलर डिजीज और स्ट्रोक से सुरक्षा देने के साथ-साथ मोटापा हावी होना का अंदेशा भी 30 फीसदी तक घटा सकती है।

वेट लूज करें

अगर आपका वजन औसत से ज्यादा है तो कोशिश करके इसे घटाएं। पांच किलो वजन घटाना भी काफी मायने रखता है। इससे डायबिटीज की आशंका घटती है।

(कोलकाता मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट के डायबिटीज स्पेशलिस्ट डॉ. रविकांत सरावगी से बातचीत पर आधारित)
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author