August 14, 2022

IND vs ENG : 'बॉल स्विंग' पर भुवी का बयान, 'नहीं पता, कैसे हो रही हैं…

wp-header-logo-128.png

टीम इंडिया (Team India) के दोनों T20 मैच में स्टार खिलाड़ी रहे भुवनेश्वर कुमार ने अपना अहम योगदान दिया। जिसकी वजह से इंडिया ने सीरीज में 2-0 की अजेय बढ़त बना ली है। युवी ने पहले मैच में 10 रन देकर टीम के लिए इंग्लैंड के सबसे बड़े खिलाड़ी जोस बटलर का विकेट लिया। तो वही दूसरे मैच में उन्होंने 15 रन देकर टीम के लिए 3 विकेट लिए। अब दूसरे मैच के बाद भुवी का बयान आया है। अगर आज के समय में क्रिकेट कि बात कि जाए तो बहुत कम ऐसे बॉलर है जो भुवी से ज्यादा अच्छी तरह बॉल को स्विंग करवा पाते हैं। सफेद कूकाबूरा बॉल से तीन दिन में दूसरी बार इंग्लैंड की बैटिंग को खराब करने वाले तेज गेंदबाज भुवी ने कहा कि “सच कहूं तो मुझे नहीं पता कि क्यों बॉल स्विंग हो रही हैं, क्योंकि मैं यहां पर कई बार आकर खेला हूं और पिछली सीरीजों में मुझे इतनी स्विंग नहीं मिली हैं।
भुवी ने फिर कहा कि इस वजह से तो में भी हैरान था। कि सफेद बॉल स्विंग कार रही हैं और वो भी लंबे टाइम तक स्विंग कर रही हैं, खासकर T20 फॉर्मेट में। विकेट पर अधिक उछाल भी हैं। इसलिए हां, जब बॉल स्विंग करती हैं तो आप लुत्फ उठाते हैं।
भुवी ने आगे कहा कि ‘अगर ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं पता कि इसे में स्विंग करा रहा हूं या परीस्थितियों के कारण ऐसा हो रहा हैं या फिर बॉल कि वजह से ऐसा हो रहा हैं। लेकिन हां, मुझे ख़ुशी हैं कि बॉल स्विंग कर रही हैं।’ भुवी ने मैच के बाद हुई प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि अगर बॉल स्विंग करती हैं तो मैं आक्रमण करता हूं, क्योंकि ये मेरा स्ट्रांग पॉइंट हैं। सपाट पिचों पर बल्लेबाज आक्रमण करते हैं, वो वहा पर अपने शॉट खेलते हैं। लेकिन 2 मैचों में बॉल स्विंग हुई और मैं आक्रमण कर रहा था। लेकिन ये महत्वपूर्ण है कि अपने ऊपर नियंत्रण रखो।”
चोट के बाद निराश भुवी
भुवी बोले ”आपको लगता है कि आप एक इनस्विंग, एक आउटस्विंग, एक इनस्विंग फेंकेंगे लेकिन इस इच्छा को नियंत्रित करना महत्वपूर्ण है। निरंतरता के साथ बॉलिंग करो और बल्लेबाजों को आउट करने के बारे में सोचों। भुवी ने आगे कहा कि चोट के बाद आपको पता होता है कि जब आप वापसी करोगे तो आपको अच्छा प्रदर्शन करना होगा। इसके अलावा आपके पास कोई और विकल्प नहीं होता। मेरा हमेशा से मानना है कि वापसी करने का कम से कम एक मौका और मिलेगा। मुझे पता है कि तब मैं अपना 100 प्रतिशत दूंगा लेकिन रिजल्ट अच्छे ही मिलेंगे इसकी कोई गारंटी नहीं है। ‘क्योंकि जब आप चोटिल होते हो तो आप हताश हो जाते हो। कुछ निराशा होती है।
जरूरी नहीं कि अपने ऊपर संदेह हो, लेकिन आप मानसिक रूप से अच्छी स्थिति में नहीं होते।’ अपने अच्छे प्रदर्शन के बाद भुवी ऑस्ट्रेलिया में होने वाले T20 वर्ल्ड कप की भारतीय टीम में जगह बनाने के प्रबल दावेदार हैं। इसके अलावा हो सकता हैं कि टेस्ट टीम में वापसी संभव हो जाए। जब भुवी से पूछा गया कि क्या वो दोबारा टेस्ट क्रिकेट खेलने को लेकर उत्सुक हैं, तो भुवनेश्वर ने कहा कि, ‘ईमानदारी से कहूं तो मैं इस समय किसी चीज के बारे में नहीं सोच रहा। बेशक, जब टेस्ट में मौका मिलेगा तो मैं ‘ना’ नहीं करूंगा। जो भी मौका मिले मैं अच्छा करने का प्रयास करूंगा।’
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author