May 28, 2022

Nautapa 2022: नौतपा का सूर्य से है ये संबंध, इस दौरान ना करें ऐसे काम

wp-header-logo-190.png

Nautapa 2022: नौतपा का सीधा संबंध सूर्य की भीषण गर्मी से है। नौतपा की शुरूआत भीषण गर्मी से शुरू होती है और यह भीषण गर्मी नौ दिनों तक रहती है। वहीं 25 मई से लेकर 02 जून तक नौतपा का प्रभाव देखने को मिल सकता है। नौतपा में तेज हवा, बारीश व आंधी-तूफान की स्थिति बनती है। सूर्य के प्रचंड तेज की वजह से इस दौरान भीषण गर्मी रहती है।
ये भी पढ़ें: Nautapa 2022: नौतपा क्या होता और साल 2022 में कब से शुरू होगा, जानें इसका महत्व
वैज्ञानिक मान्यताओं के अनुसार, नौतपा के दौरान सूर्य की सीधी किरणें पृथ्वी पर पड़ती हैं और वातावरण गर्म हो जाता है। जिससे आंधी और तूफान की स्थिति बन जाती है। देश के अधिकांश भागों में लूं का प्रकोप बढ़ जाता है। धूल भरी आंधी चलने से जन जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है।
ग्रहों की मौजूदा स्थिति को देखते हुए देश के पूर्वी-पश्चिमी हिस्सों और दक्षिणी भाग में दैवीय आपदाएं आने की संभावना है। ज्योतिष शास्त्र की मानें तो सूर्य की ऐसी स्थिति अमंगल और अशुभ संकेत दे रही है। ऐसी स्थिति में कुछ भी कार्य शुरू करने से पहले कई बार विचार करना आवश्यक होता है।
नौतपा के दौरान क्या ना करें
सूर्य के प्रचंड प्रकोप और भीषण गर्मी को देखते हुए धूल भरी आंधी और वर्षा की संभावना से लोगों को शादी-विवाह जैसे मांगलिक कार्य ना करने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में होने के कारण पृथ्वी पर उसकी सीधी किरणें पड़ती हैं। जिससे पृथ्वी का तापमान बढ़ जाता है और इससे तेज हवाएं चलती हैं। बबंडर की स्थिति बनती है।
ऐसे में लोगों को लंबी यात्रा ना करने का विचार नहीं करना चाहिए। इसके अलावा 15 दिनों तक सूर्य रोहिणी नक्षत्र में रहता है जिसके कारण भीषण गर्मी के साथ-साथ बारीश भी होने की संभावना रहती है। ऐसे में जन जीवन अस्त-व्यस्त हो जाता है। लोगों को किसी भी तरह के सामाजिक कार्यक्रमों से बचना चाहिए।
Disclaimer: इस स्टोरी में दी गई सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Haribhoomi.com इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन तथ्यों को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source