May 21, 2022

छतों से नहीं देख सकेंगे रामनवमी की शोभायात्रा : डीजे पर रोक, हर घर की छत पर तैनात रहेंगी पुलिस

wp-header-logo-221.png

जयपुर। रामनवमी की रविवार को निकलने वाली शोभायात्रा को छतों से खड़ा होकर नहीं देख सकेंगे। घर के दरवाजे पर खड़े रहकर शोभायात्रा का आनंद ले सकेंगे। धौलपुर के पड़ोसी जिले करौली में हुए दंगों के बाद धौलपुर में आज रामनवमी पर निकलने वाली शोभायात्रा को लेकर जिला प्रशासन ने कड़े फैसले लिये है। कल शहर में लॉ एंड ऑर्डर को लेकर धौलपुर जिला कलेक्टर राकेश कुमार और एसपी नारायण टोगस ने कलेक्ट्रेट धौलपुर में पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों के साथ ही सर्व समाज के प्रतिनिधियों की बैठक ली। साथ ही, शोभायात्रा के दौरान डीजे बजाने पर भी रोक रहेगी।
दरवाजे से ही शोभायात्रा को देखकर कर सकेंगे स्वागत
SP नारायण टोगस ने बताया कि रविवार को रामनवमी पर निकलने वाली शोभायात्रा को लेकर पुलिस और प्रशासन की ओर से कानून व्यवस्था को लेकर कड़े कदम उठाए जा रहे हैं। आयोजकों के साथ शनिवार को कलेक्ट्रेट में बैठक हुई। बैठक में यह निर्णय लिया गया कि रामनवमी, हनुमान जयंती एवं अन्य किसी भी शोभायात्रा को देखने के लिए लोग अपने घरों की छत पर नहीं जाएंगे। दरवाजे से ही शोभायात्रा को देखकर स्वागत कर सकेंगे। बैठक के दौरान SP नारायण टोगस ने कहा कि पुलिसकर्मी छतों पर भी तैनात रहेंगे, जहां से असामाजिक तत्वों पर नजर रखेंगे।
ड्रोन और सीसीटीवी कैमरों निगरानी
बैठक में अधिकारियों ने विभिन्न समाज के लोगों से उनकी समस्याओं के बारे में भी पूछा और तुरंत समस्या निराकरण के निर्देश दिए। अधिकारियों ने शोभा यात्रा और धार्मिक आयोजनों में किसी भी तरह के भड़काऊ नारे या जयकारे नहीं लगाने के भी सख्त निर्देश दिए। शोभायात्रा की निगरानी ड्रोन कैमरे और सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से की जाएगी। ऐसे में कोई भी व्यक्ति नियमों का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ पर्याप्त सबूतों के आधार पर सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।
चप्पे-चप्पे पर तैनात रहेगी पुलिस
रामनवमी की शोभायात्रा दोपहर 3 बजे पुराना शहर से निकलकर गडरपुरा स्थित राम मंदिर तक पहुंचेगी। इस दौरान चप्पे-चप्पे पर पुलिस के बंदोबस्त किए गए हैं। बैठक के दौरान SP ने सभी समुदाय के लोगों से एक-दूसरे के त्योहार के दौरान सौहार्द्रपूर्ण माहौल बनाने के साथ ही छतों पर न जाने की भी अपील की है। जिला कलेक्टर राकेश जायसवाल ने बताया कि सभी समाज के लोगों ने शोभायात्रा के स्वागत करने का निर्णय लिया है।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source