July 5, 2022

बहनों की ख्वाहिश के लिए भाई हेलिकॉप्टर से लाया उनकी भाभी, रामदेवरा में पहली बार देखी ऐसी विदाई

wp-header-logo-163.png

जयपुर। हर कोई अपनी शादी को खूबसूरत और यादगार बनाना चाहता है। इसके लिए बहुत से लोग काफी समय पहले से तैयारी में जुट जाते हैं। इन दिनों शादियों का सीजन चल रहा है। सोशल मीडिया पर रोजाना नई-नई शादियों के नए नए ट्रेंड सामने आ रहे हैं। प्रदेश के बाड़मेर जिले में हुए एक शादी इन दिनों सुर्खियां बटोर रही है। यहां एक दूल्हा अपनी दुल्हन को लेने हेलिकॉप्टर से उसके शहर रामदेवरा पहुंचा। बारात लाने के इस अलग और महंगे तरीके के बारे में जब दूल्हे से पूछा गया तो उसने जवाब दिया कि ‘मेरी तीनों बहनों की ये इच्छा थी कि भाभी को हेलिकॉप्टर में लेकर आया जाये।
देखने वालों की लग गई भीड़
एक रिपोर्ट के अनुसार, बाड़मेर शहर के गांधीनगर निवासी शिक्षक बजरंग सिह के इकलौते बेटे राजेन्द्र सिंह की शादी रामदेवरा के नारायण सिंह की बेटी संतोष के साथ हुई है। शादी के बाद दूल्हे राजेन्द्र सिंह ने दुल्हन के साथ रविवार को रामदेवरा से हेलिकॉप्टर से उड़ान भरी। नारायण सिंह वरिष्ठ शिक्षक हैं। वे शिक्षा के क्षेत्र में राष्ट्रपति के हाथों सम्मान से भी नवाजे जा चुके हैं। रामदेवरा में जैसे ही दूल्हे का हेलिकॉप्टर उतरा तो उसे देखने वालों की भीड़ लग गई।
पलक पांवड़े बिछाकर किया बहू का स्वागत
शादी करके दूल्हा अपनी दुल्हन को लेकर हेलिकॉप्टर से बाड़मेर पहुंचा। वहां पलक पावड़े बिछाए दूल्हे के परिजनों ने गर्मजोशी से दुल्हन का स्वागत किया। बाड़मेर में भी हेलिकॉप्टर को देखने के लिए हेलीपैड पर लोग एकत्रित हो गए। बाड़मेर शहर के महाबार स्थित हेलीपेड पर स्वागत करने आए सामाजिक कार्यकर्ता रिड़मल सिह दांता के मुताबिक यह पल गौरवांवित करने वाला था।
परिवार करता है बेटियों की ख्वाहिश पूरी
बजरंग सिह के एक बेटा और 3 बेटियां हैं। एमबीबीएस कर रहे दूल्हे के तीन बहनों की ख्वाहिश थी कि उनकी भाभी हेलिकॉप्टर से आए। बेटियों की इसी ख्वाहिश को पूरा करने के लिए पूरे परिवार ने सहमति जतायी और दुल्हन को हेलिकॉप्टर से लाए।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source