January 20, 2022

Delhi Metro Facts: ये है दिल्ली मेट्रो का सबसे बड़ा और बिजी स्टेशन, एक साथ इतने रूट पर चलती है ट्रेन

wp-header-logo-61.png

Delhi Metro Facts: दिल्ली में मेट्रो रेल (Delhi Metro Rail) का इतिहास मात्र 20 साल पुराना है। इन बीस सालों में दिल्ली मेट्रो दिल्ली एनसीआर (Delhi NCR) के कोनें कोनें तक पहुंच गई है। 348 किलोमीटर का एरिया कवर करती दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) आज दिल्ली ट्रांसपोर्ट (Delhi Transport) के दिल की धड़कन है। हर दिन लाखों लोग मेट्रो से यात्रा करते हैं। मेट्रो ने दिल्ली की सड़कों का भार बहुत हद तक कम कर दिया है। अपनी इस दिल्ली मेट्रो फैक्ट्स (Delhi Metro Facts) की सीरीज में हम आपके लिए लेकर आते हैं देश की राजधानी की मेट्रो से जुड़ी कुछ जानकारियां।
आपने अबतक अनगिनत बार दिल्ली मेट्रो में सफर किया होगा। कई बार आप अलग- अलग स्टेशन से गुजरे होंगे, जिनमें बहुत से मेट्रो स्टेशन पुराने होते हैं और बहुत से नए। वहीं कुछ मेट्रो स्टेशन हमें बहुत छोटे लगते हैं और कुछ का अंत हम पता ही नहीं लगा पाते। आज की अपनी इस स्टोरी में हम आपको दिल्ली मेट्रो के सबसे बड़े और सबसे व्यस्त स्टेशन के बारे में बताएंगे। कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन (Kashmere Gate Metro Station) दिल्ली का सबसे बड़ा और सबसे व्यस्त मेट्रो स्टेशन है।

कश्मीरी गेट (Kashmere Gate) दिल्ली मेट्रो की रेड, येलो और वायलेट लाइन (Voilet Line) को जोड़ता हुआ दिल्ली का सबसे बड़ा मेट्रो स्टेशन है। इसके एलिवेटेड प्लेटफॉर्म पर रेड लाइन (Red Line) और अंडरग्राउंड प्लेटफॉर्म पर येलो (Yellow Line) और वायलेट लाइन पैरलल चलती हैं। यह भारत का सबसे व्यस्त मेट्रो स्टेशन है, जिसका नाम 25 दिसंबर 2002 को रखा गया था।
इतने एरिया में फैला है कश्मीरी गेट
कश्मीरी गेट मेट्रो स्टेशन दिल्ली के ऐतिहासिक कश्मीरी गेट में से एक हैं, और वर्तमान में दिल्ली मेट्रो का सबसे बड़ा मेट्रो स्टेशन है। यह लगभग 118,400 वर्ग फुट (11,000 वर्ग मीटर) में फैला हुआ है और भारत में 3 लाइन इंटरचेंज करने वाला एक मात्र मेट्रो स्टेशन है। इस विशाल स्टेशन में 6 मंजिलें हैं। जिसमें रेस्तरां, फास्ट फूड सेंटर, मैकडॉनल्ड्स, बर्गर किंग, वाटर वेंडिंग मशीन, 3 टॉयलेट कॉम्प्लेक्स, 35 से अधिक एस्केलेटर, टिकट वेंडिंग मशीन जैसी कई सुविधाएं उपलब्ध हैं।

कश्मीरी गेट की शुरुआत के साथ इस पर रेड और येलो लाइन थी। इसके बाद मेट्रो के तीसरे चरण योजना के तहत कश्मीरी गेट पर रेड, येलो और वायलेट लाइन को इसमें जोड़ा गया। इसका उद्घाटन 28 मई 2017 को तत्कालीन केंद्रीय मंत्री श्री वेंकैया नायडू द्वारा किया गया था। इस वायलेट लाइन ने केंद्रीय सचिवालय और कश्मीरी गेट के बीच ट्रैवल करने वाले यात्रियों को एक ऑप्शन दिया। इसके साथ ही इसने येलो लाइन पर होने वाली हद से ज्यादा भीड़ को भी कम कर दिया।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source