February 6, 2023

रोहित शर्मा ही नहीं इन खिलाड़ियों ने भी चोटिल होने के बाद नहीं छोड़ा मैदान, देखें कौन-कौन लिस्ट में शामिल

wp-header-logo-144.png

खेल के मैदान में खिलाड़ी अक्सर गंभीर चोटों (serious injuries) का शिकार हो जाते हैं। मैच के दौरान चोटिल होने के बाद खिलाड़ियों के मैदान छोड़ने के कई उदाहरण सामने आए हैं। हाल ही में बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए दूसरे वनडे में रोहित शर्मा (Rohit Sharma) चोटिल होने के बावजूद मैदान में बल्लेबाजी करने आए। रोहित शर्मा इस तरह से चोटिल होकर खेलने वाले पहले खिलाड़ी नहीं हैं। रोहित का अलावा और भी कई अन्य खिलाड़ी हैं, जो चोट के बावजूद मैदान पर अपना साहसिक (field despite injury) खेल दिखाने आए है।
अनिल कुंबले
भारत के पूर्व कप्तान अनिल कुंबले (Anil Kumble) ने वेस्टइंडीज के खिलाफ 2002 एंटीगुआ टेस्ट में जबड़े की चोट के बावजूद खेला था। उन्होंने पट्टी बांधकर गेंदबाजी की थी। ब्रायन लारा पहली पारी में आउट हुए। उसके लिए उन्होंने लगातार 14 ओवर फेंके। पिछले टेस्ट मैच में मर्विन डिलियन की उछलती गेंद पर अनिल कुंबले को चोट लग गई थी। इससे खून भी बहने लगा। प्राथमिक उपचार के बाद कुंबले ने 20 मिनट तक बल्लेबाजी की। टेस्ट मैच बराबरी पर छूटा लेकिन अनिल कुंबले (Anil Kumble bowling) के चेहरे पर पट्टी बांधकर गेंदबाजी करने की तस्वीर आज भी भारतीय प्रशंसकों को याद है।
गैरी कर्स्टन
2003 के लाहौर टेस्ट मैच में गैरी कर्स्टन (Gary Kirsten) को शोएब अख्तर (Shoaib Akhtar) की तेज गति वाली बाउंसर गेंद पर लग गई थी। 53 रन पर खेलने वाले कर्स्टन को वहां से इलाज के लिए ले जाया गया। स्कैन करने पर पता चला कि उसकी नाक टूट गई है। दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका ने 4 विकेट पर 146 रन बनाए। टीम को परेशानी में देख कर्स्टन फिर बल्लेबाजी करने आए और 46 रन बनाए। पाकिस्तान ने टेस्ट जीत लिया लेकिन कर्स्टन की टूटी नाक वाली बल्लेबाजी की आज भी प्रशंसा की जाती है।
युवराज सिंह
बल्लेबाजी करते हुए खून की उल्टी होने के बावजूद युवराज सिंह (Yuvraj Singh) ने 2011 वर्ल्ड कप में भारत की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। विश्व कप के आखिरी लीग मैच के दौरान चेन्नई के गर्म और उमस भरे मौसम में वेस्टइंडीज के खिलाफ खेल रहे थे। गंभीर 8वें ओवर में आउट हुए और भारत का स्कोर 51-2 था।अब जिम्मेदारी युवराज सिंह और विराट कोहली के कंधों पर थी। युवराज और विराट ने चौथे विकेट के लिए 100 से ज्यादा रन की पार्टनरशिप की। इसी पारी के दौरान युवराज सिंह का खून बहता देख क्रिकेट जगत सदमे में था, लेकिन क्या युवराज ने हार नहीं मानी थी। इस वक्त युवराज अपने फेफड़ों में बढ़ रहे कैंसर के ट्यूमर से लड़ रहे थे।
महेंद्र सिंह धोनी
2019 वर्ल्ड कप के दौरान धोनी (Dhoni) की उंगली में हेयरलाइन फ्रैक्चर हो गया था। चोट के बाद भी धोनी पूरे विश्व कप में खेला था। इंग्लैंड के खिलाफ मैच के दौरान उनके अंगूठे में चोट लग गई थी। धोनी के अंगूठे से खून चूसने और बाद में उसे मैदान पर थूकने की तस्वीरें और वीडियो वायरल हुए थे। धोनी के हाथ में दर्द होने के बावजूद उन्होंने बल्लेबाजी की
ग्रीम स्मिथ
स्मिथ (Smith) को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2009 के सिडनी टेस्ट में मिचेल जॉनसन (Mitchell Johnson) की एक तेज गेंद से चोट लगी थी। उनका बायां हाथ टूट गया था। 30 रन बनाकर बल्लेबाजी करने वाले स्मिथ को अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्रोटियाज तब 327 रन पर आउट हो गए, फिर दूसरी पारी में 257 रन बनाए क्योंकि ऑस्ट्रेलिया ने दक्षिण अफ्रीका को जीत के लिए 367 रनों की चुनौती दी। दक्षिण अफ्रीका के 9 विकेट नीचे थे और वह 100 से अधिक रन बनाना चाहता था। सभी को लगा कि मैच खत्म हो गया लेकिन फिर स्मिथ 10वें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author