December 6, 2022

Knowledge News : आखिर क्यों अलग-अलग रंग के साबुन से निकलता है सफेद झाग, जानिए कारण

wp-header-logo-186.png

साबुन (Soap) एक ऐसी चीज है, जिसके बारे में छोटे से लेकर बड़े तक हर किसी को पता होगा। साबुन का इस्तेमाल ना जाने लोग पूरे दिन में कितनी बार करते हैं। जैसे कभी हाथ धोने के लिए, कभी नहाने के लिए, कपड़े धोने के लिए और बर्तन धोने के लिए। ये सभी साबुन अलग-अलग कंपनियां बनाती हैं। इनके कलर और साइज भी अलग-अलग होते हैं, जैसे कि किसी साबुन का कलर लाल होता है तो किसी का नीला, किसी का पीला तो किसी साबुन का रंग का हरा होता है। इन सबके बीच एक चीज कॉमन है, जो सब साबुन के लिए सामान है। बात कर रहे हैं साबुन से निकलने वाले झाग की। साबुन चाहें किसी भी कलर का क्यों ना हो, उसका झाग हमेशा सफेद (Soap Foam Always White) ही रहता है। क्या आपने कभी ये सोचा है कि ऐसा क्यों होता है। अगर नहीं, तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि ऐसा क्यों होता है और इसके पीछे का क्या राज है..
यह कहता है विज्ञान
विज्ञान कहता है कि किसी भी चीज का अपना कोई रंग नहीं होता। उसके रंगीन दिखने के पीछे की वजह प्रकाश की किरणें होती हैं। अगर कोई चीज प्रकाश की हर किरणों को अवशोषित यानी सोख लेती है, तो वो चीज काली दिखने लगती है। वहीं अगर दूसरी तरफ प्रकाश की हर किरणों को परावर्तित कर देती है, तो वो चीज सफेद दिखने लग जाती है। इसलिए यह नियम साबुन के झाग पर भी लागू होता है। अगर हम साबुन में इस्तेमाल होने वाले डाई की बात करें तो वो बहुत ज्यादा प्रभावी नहीं होती।
एक रिपोर्ट के मुताबिक साबुन चाहे किसी भी कलर का क्यों ना हो, उसके इस्तेमाल के बाद झाग बनता है जिसमें हवा, पानी और साबुन होता है। फिर जब वो आकार ले लेता है, तो हमें बुलबुले के रूप में गोल-गोल दिखाई देने लग जाता है। अक्सर आपने कपड़े धोते हुए देखा होगा कि बुलबुले बनने लग जाते हैं। जब इन बुलबुलों पर सूर्य की किरणें पड़ती हैं तो वह परावर्तित होकर सफेद रंग में दिखाई देने लगते हैं।
इस वजह से निकलते हैं सफेद झाग
बता दें कि विज्ञान के मुताबिक साबुन के झाग से बनने वाले छोटे-छोटे बुलबुले सतरंगी ट्रांसपेरेंट फिल्म से बने होते हैं। इसी वजह से जब इन पर प्रकाश की किरणें पड़ती है तो सभी रंग परावर्तित हो जाते हैं और सफेद दिखने लग जाते हैं। साबुन के झाग पर भी यही बात लागू होती है। यही वजह है कि साबुन चाहे लाल हो या हरा और नीला-पीला, हमेशा झाग सफेद ही रहता है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author