December 3, 2022

प्रदेश में बारिश-ओले: ठंड से छूटी कंपकंपी, 12 साल में पहली बार गर्म रहा नवंबर

wp-header-logo-173.png

जयपुर। राजस्थान में मंगलवार की शाम एक्टिव हुए वेस्टर्न डिस्टर्बेंस ने पहली बार नवंबर में सर्दी का अहसास करा दिया। प्रदेश में हुई बारिश और तेज हवा से कई शहरों का तापमान अचानक नीचे आ गया। बीते दिन प्रदेश में ज्यादातर जगहों पर दिनभर बादल छाए रहे। रुक-रुक कर पूर्वी हवाएं चलती रही। इसके बाद शाम को चंद्रग्रहण काल समाप्त होते ही राजधानी जयपुर सहित कई जिलों में बारिश हुई। जयपुर शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रों में बरसात के साथ ओलावृष्टि भी हुई। जयपुर के पास चौमूं, गोविन्दगढ़, खेजरोली में तूफानी बरसात के बाद ओले गिरे, जिससे तापमान में गिरावट दर्ज की गई और सर्दी बढ़ गई है।
जयपुर में गिरे ओले, कई शहरों में हुई बारिश
चंद्र ग्रहण के बाद जहां चांद लाल दिखा, वहीं राजस्थान में अचानक मौसम पलटा। शाम होते-होते तेज हवाएं चलने लगीं। मंगलवार देर रात जयपुर में तेज बारिश हुई। चौमूं के आस-पास के इलाकों में ओले गिरे। 3 घंटे में तापमान में 10 डिग्री सेल्सियस तक गिरावट हो गई। ग्रहण देखने बिना गर्म कपड़ों में घर से बाहर निकले लोग ठिठुर गए।
आने वाले दिनों बढ़ेगी ठंड
मौसम विभाग के अनुसार आज गंगानगर, हनुमानगढ़ व चूरू जिलों में कहीं-कहीं हल्की बारिश होने की सम्भावना है। वहीं 10 नवंबर से राजस्थान में ठंडक बढ़ने की संभावना है। अनुमान के मुताबिक 10 नवंबर से प्रदेश में न्यूनतम तापमान 2 से 4 डिग्री सेल्सियस तक कम हो सकता है। फिलहाल अधिकांश जिलों में रात का पारा 15 से 20 डिग्री सेल्सियस के बीच बना हुआ है।
12 साल में पहली बार गर्म रहा नवंबर
इसके साथ ही आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इस बार सीजन की शुरुआत में सूरज के तेवर तेज देखने को मिले हैं। जयपुर, अजमेर, उदयपुर समेत 10 से ज्यादा शहरों में नवंबर के शुरुआती दिनों में दिन का पारा 35 डिग्री सेल्सियस से ऊपर चला गया। सिरोही में तो अधिकतम तापमान ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और पारा 40 डिग्री सेल्सियस के पार पहुंच गया।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author