December 3, 2022

2 साल से कम उम्र के बच्चों के लिए Cough Syrup होता है जानलेवा, WHO ने अलर्ट जारी कर 4 सीरप पर लगाई रोक

wp-header-logo-105.png

Children should not be given cough syrup: गाम्बिया (Gambia) में 66 बच्चों की दुर्भाग्यपूर्ण मौत के बाद, विश्व स्वास्थ्य संगठन (World Health Organization) ने 5 अक्टूबर को भारत में मेडेन फार्मास्यूटिकल्स (Maiden Pharmaceuticals) द्वारा बनाए गए चार कफ सीरप के अति प्रयोग को लेकर अलर्ट जारी किया है । डब्ल्यूएचओ (WHO) ने भारतीय फार्मा कंपनी द्वारा बनाए गए चार सीरप और गाम्बिया में हुई मौतों के बीच संबंध की चेतावनी दी। डब्ल्यूएचओ की रिपोर्ट में ये चार कफ सीरप शामिल हैं:- कोफेक्समालिन बेबी कफ सीरप, प्रोमेथाज़िन ओरल सॉल्यूशन, मकॉफ़ बेबी कफ सीरप, और मैग्रीप एन कोल्ड सीरप। डब्ल्यूएचओ ने कहा कि भारत के केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (Central Drugs Standard Control Organization) ने संकेत दिया है कि निर्माता फर्म ने केवल गाम्बिया को दूषित दवाओं की आपूर्ति की थी, लेकिन यह एक अनियंत्रित बाजार के माध्यम से अन्य अफ्रीकी देशों तक भी पहुंच सकती है।
डब्ल्यूएचओ ने किया यह बड़ा खुलासा
डब्ल्यूएचओ ने खुलासा किया कि लैब में प्रोडक्ट के सैंपल को चेक कराने पर उसमें डायथाइलीन ग्लाइकॉल (Diethylene Glycol) और एथिलीन ग्लाइकॉल (Ethylene Glycol) की अस्वीकार्य रूप से उच्च मात्रा पाई गई, इन दवाओं में मौजूद संदूषक (Contamination) गंभीर प्रभाव पैदा कर सकते हैं। उदाहरण के लिए उल्टी, दस्त, पेट में दर्द, पेशाब करने में असमर्थता, सिरदर्द, बदली हुई मनोवैज्ञानिक स्थिति और किडनी की चोट जो घातक भी हो सकती है। डब्ल्यूएचओ के इस अलर्ट ने सामान्य कफ सीरप की सुरक्षा को लेकर कई लोगों को चिंतित कर दिया है।
बच्चों को नहीं देना चाहिए कफ सीरप
वहीं विशेषज्ञों की माने तो बच्चों को खांसी की दवाई नहीं देनी चाहिए, क्योंकि इस तरह के सीरप के उपयोग से स्वास्थ्य संबंधी गंभीर जटिलताएं हो सकती हैं। ज्यादातर कफ सीरप में कुछ अलग रसायन होते हैं, विशेषज्ञों ने कहा कि “इन सीरप में से कुछ एंटी-हिस्टामाइन और एंटीट्यूसिव हैं – जो दिमाग के मध्य भाग में खांसी को दबाते हैं। इनमें से अधिकांश दवाएं दो साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं देनी चाहिए। बच्चों को इस तरह के सीरप देने के बाद हल्के साइड इफेक्ट जैसे अत्यधिक नींद आना आमतौर पर देखा जाता है। हालांकि, अन्य प्रभाव जैसे दौरे, किडनी की चोट आदि भी इन दवाओं के कारण हो सकते हैं।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author