December 3, 2022

Self Care Tips For New Mothers: नई माताओं के लिए क्यों जरूरी है सेल्फ केयर? जानिए एक्सपर्ट्स की राय और असरदार टिप्स

wp-header-logo-201.png

Self Care Tips For New Mothers: मां बनने के तुरंत बाद से ही अधिकतर महिलाएं खुद पर जरूरी ध्यान नहीं दे पाती हैं। लेकिन अपनी डाइट, हेल्थ और मेंटल फिटनेस का ध्यान रखकर ना केवल आप हेल्दी-हैप्पी रहेंगी, बच्चे की केयर भी अच्छी तरह कर पाएंगी। बच्चे के जन्म देने के बाद से ही सभी मांएं उनको ही प्रियॉरिटी देती हैं और अपनी जरूरतों और हेल्थ पर जरूरी ध्यान नहीं दे पाती हैं। हालांकि नवजात शिशु की देखभाल करते हुए और जिंदगी के महत्वपूर्ण बदलावों के साथ ताल-मेल बैठाते समय, अपने लिए समय निकालना मुश्किल हो सकता है। लेकिन नई मांओं को बच्चे के साथ ही अपनी देखभाल भी अच्छी तरह करनी बहुत जरूरी है।
इसलिए है जरूरी सेल्फ केयर

हर महिला के लिए प्रेगनेंसी पीरियड कठिन होता है और बच्चे को पालना भी आसान नहीं होता है। ऐसे में न्यू मदर्स का कभी-कभी उदास, चिंतित, व्याकुल या गुस्सा होना सामान्य है। लेकिन ऐसा आपके साथ ज्यादा हो सकता है, जब आप अपना पूरा ध्यान नहीं रखेंगी। अपनी देखभाल के द्वारा आप हेल्दी ही नहीं हैप्पी भी फील करेंगी। ऐसी हैबिट से आगे चलकर आप अपने बच्चों के लिए एक अच्छी रोल मॉडल बनेंगी। उन्हें आपसे प्रेरणा मिलेगी। इसलिए न्यू मदर्स का खुद की देखभाल करना जरूरी है। एनसीआर के कंसल्टेंट ऑब्स्टेट्रिशियन-गायनेकोलॉजिस्ट डॉ. मनीषा तोमर से जानिए आप ऐसा कैसे कर सकती हैं खुद की देखभाल।
हेल्दी डाइट लें

न्यू मदर्स को टेस्टी ही नहीं हेल्दी और न्यूट्रिशस डाइट लेनी चाहिए, ताकि शरीर को जरूरी एनर्जी और न्यूट्रिशन मिलता रहे। प्रेगनेंसी पीरियड से रिकवरी और डिलीवरी के बाद शरीर को फिर से हेल्दी बनाने के लिए जरूरी मात्रा में प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, हेल्दी फैट्स, आयरन, कैल्शियम, विटामिंस और मिनरल्स की जरूरत होती है। ये न्यूट्रिएंट्स विशेष रूप से डिलीवरी के बाद हेल्थ को मेंटेन करने और ब्रेस्ट फीडिंग में फायदेमंद होते हैं।
हाइड्रेशन लेवल बनाए रखें

शरीर में जल का सही संतुलन (हाइड्रेशन लेवल) बनाए रखना न्यू मदर्स के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है। इसके लिए हर दिन आठ से दस गिलास पानी उन्हें जरूर पीना चाहिए। इससे वे हाइड्रेटेड रहेंगी और बच्चे को पिलाने के लिए पर्याप्त दूध भी बनेगा।
पर्याप्त आराम करें

अधिकतर न्यू मदर्स अपने बच्चे की देखभाल में इतनी व्यस्त रहती हैं कि अकसर खुद कम नींद ले पाती हैं। इसके कारण उन्हें थकान महसूस हो सकती है। नींद कम लेने से दूध का बनना भी प्रभावित होता है। जब तक बच्चा कुछ महीनों का ना हो जाए, तब तक रोज सात-आठ घंटे की अच्छी नींद लेना मां के लिए बहुत कठिन होता है। इसलिए जब भी बच्चा सो रहा हो, उन्हें भी झपकी ले लेनी चाहिए। इस प्रकार उन्हें तनाव और थकान से राहत मिलेगी।
रोजाना व्यायाम करें

डिलीवरी के बाद डॉक्टर से सलाह लेकर न्यू मदर्स को धीरे-धीरे हल्के व्यायाम शुरू कर देने चाहिए। इससे तनाव, थकान से राहत मिलेगी और फिटनेस भी मेंटेन रहेगी। इसके अलावा सूरज ढलने से पहले या सुबह के समय खुले मैदान या बगीचे में वॉक पर भी जा सकती हैं। आप रनिंग कर सकती हैं और कुछ सरल योगासन भी कर सकती हैं।
खुद को दें कुछ समय

अपने नवजात शिशु की केयर में व्यस्त ज्यादातर न्यू मदर्स अपने लिए टाइम निकालना भूल जाती हैं। अपने भीतर झांकने और मानसिक सेहत के लिए न्यू मदर्स को हर दिन कुछ मिनट के लिए ध्यान करना चाहिए। ध्यान करने से शांति मिलेगी, आप अपनी उपलब्धियों के बारे में सोचेंगी और भविष्य के लिए आपका मनोबल बढ़ेगा। इस तरह आप अपने बच्चे की केयर टेंशनफ्री होकर कर पाएंगी।
प्रस्तुति-आभा यादव
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author