October 4, 2022

महंगाई के खिलाफ कांग्रेस के प्रदर्शन में ‘अपनों’ पर बिफरे डोटासरा, कहा- विरोध करने में डर कैसा

wp-header-logo-179.png

जयपुर। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा अक्सर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में छाए रहते है। वे आए दिन कुछ ना कुछ ऐसा बोल देत है जिसकी वजह से वे चर्चा में आ जाते है। प्रदेश की राजधानी जयपुर में राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से देश में लगातार बढ़ती तेल की कीमत और महंगाई को लेकर हल्ला बोला गया। राज्य की कांग्रेस सरकार की ओर से सिविल लाइंस फाटक पर धरना-प्रदर्शन किया गया। महंगाई नहीं बोलने के कारण डोटासरा ने अपने मंत्रियों को फटकार लगाई है। कांग्रेस के महंगाई विरोधी धरने में गहलोत सरकार के कई मंत्रियों बयान देने से बच रहे है। धरने में आधा दर्जन से ज्यादा मंत्री मौजूद थे, लेकिन भाषण तीन मंत्रियों ने ही दिए। यह बात कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा को अच्छी नहीं लगी। उन्होंने ऐसे मंत्रियों को सार्वजनिक रूप से जमकर फटकारा।
कांग्रेस कार्यकर्ताओं और मंत्रियों पर बिफरे डोटासरा
डोटासरा ने कहा कि जिस तरह महंगाई बढ़ रही है। आम आदमी परेशान है। उसमें हम सबकी जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ जाती है। कई मंत्रियों से मैंने कहा कि भाषण दीजिए तो अंगुली हिलाने लग गए (मना करने लग गए)। यह अंगुली हिलाने का समय नहीं है। हमें मुखर होकर मोदी सरकार का विरोध करना होगा। कोई इनकम टैक्स का छापा नहीं पड़ रहा है। मोदी सब पर छापा नहीं डाल रहे हैं। कोई चिंता करने की जरूरत नहीं है।
तब जाकर हम मोदी सरकार को चुनौती दे पाएंगे : डोटासरा
डोटासरा ने कहा कि कांग्रेस विधायकों और कार्यकर्ताओं को मोदी सरकार की नीतियों के बारे में जनता को गली-गली जाकर जागरूक करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आम आदमी मोदी सरकार में पिस रहा है और हम बोलने से भाग रहे हैं। डोटासरा ने 2023 में दोबारा सरकार बनाने की बात करते हुए कहा कि हमें बेरोजगारी, महंगाई, किसानों के मुद्दे पर जनता के सामने बात करनी पड़ेगी तब जाकर हम मोदी सरकार को चुनौती दे पाएंगे।
बीजेपी राज में चरम पर महंगाई : खाचरियावास
प्रदर्शन के दौरान मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी राज में आज महंगाई चरम पर है। पिछले 16 दिनों में पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी करके सरकार ने गरीब पर वार किया है। वहीं कांग्रेस सरकार के कामों को गिनाते हुए मंत्री ने कहा कि मोदी सरकार 2011 की जनगणना के आधार पर खाद्य सुरक्षा कानून के तहत गेहूं दे रही है लेकिन खाद्य सुरक्षा कानून कांग्रेस सरकार ने लागू किया और कांग्रेस सरकार ही मनरेगा योजना लेकर आई थी।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author