February 6, 2023

OMG! भयानक खांसी की वजह से टूटी चीनी महिला की पसलियां, डॉक्टर ने फ्रैक्चर पर कही ये बात

wp-header-logo-116.png

Under Weight Problems: जरूरत से ज्यादा मसालेदार खाना खाने से सेहत पर बुरा असर पड़ता है, यह बात हम सभी जानते हैं। क्या आप ये जानते हैं कि मसालेदार खाना आपकी पसलियों के टूटने की वजह भी बन सकता है? नहीं न, पर यही सच है। दरअसल मसालेदार खाना खाते समय खांसी आने की वजह से चीन की एक महिला की चार पसलियां टूट गई हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, खांसते हुए महिला को अपनी छाती से एक आवाज सुनाई दी, जिसे उसने शुरुआत में नजरअंदाज कर दिया था। बाद में, सांस फूलने की समस्या से पीड़ित होकर महिला अस्पताल पहुंची। तब उन्हें अपने पसलियों के फ्रैक्चर के बारे में पता चला था। हालांकि, डॉक्टरों का कहना है कि खांसी के कारण पसलियों के टूटने की संभावना न के बराबर है। ऐसे में उनकी इस गंभीर चोट का कारण उनका कम वजन भी हो सकता है।
किसी व्यक्ति का वजन कब कम होता है?
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक व्यक्ति का वजन तब कम होता है, जब उसके शरीर को पर्याप्त पोषण नहीं मिल रहा होता है। पर्याप्त पोषण शरीर के महत्वपूर्ण अंगों को ठीक से काम करने और स्वस्थ हड्डियों, स्किन और बालों के निर्माण के लिए बहुत जरूरी होता है।
डॉक्टरों के मुताबिक किसी व्यक्ति के कम वजन के होने के कई कारण हो सकते हैं, जिनमें से एक चिकित्सीय बीमारी (medical illness) शामिल है। यह समस्या उनका वजन बढ़ने से रोकती है। रोग निवारण और नियंत्रण केंद्र बॉडी मास इंडेक्स या बीएमआई का इस्तेमाल करके आपको यह पता जरूर करना चाहिए कि आप कम वजन वाले हैं, स्वस्थ वजन या फिर अधिक वजन वाले हैं।
एक इंसान अपने बीएमआई की गणना किस आधार पर करता है:
कम वजन: 18.5 से कम
हेल्दी वजन: 18.5 से 24.9
अधिक वजन: 25.0 से 29.9
मोटापा: 30 या उससे ज्यादा
कम वजन होने के कारण
किसी इंसान का वजन कम होने के कई कारण होते हैं:
जेनेटिक प्रॉब्लम्स
हाई मेटाबॉलिज्म
शारीरिक गतिविधि करते रहना
स्थायी बीमारी
मानसिक बीमारी
कम वजन होने का जोखिम
कई बीमारियां ऐसी होती हैं, जो ज्यादा वजन और मोटापे के कारण होती हैं, लेकिन आज हम आपको कम वजन वाले लोगों को होने वाली बीमारियों के खतरे के बारे में बताएंगे:-
ऑस्टियोपोरोसिस (Osteoporosis)
स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक, कम वजन वाली महिलाओं में ऑस्टियोपोरोसिस के बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि इससे हड्डियां आसानी से टूटने का खतरा होता है।
स्किन, बाल और दांतों की समस्याएं (Skin, hair and teeth problems)
कम वजन वाले लोगों को पर्याप्त मात्रा में पोषण नहीं मिलने के कारण स्किन का पतला होना, बाल झड़ना, स्किन का सूखना और खराब दांत जैसे लक्षण दिख सकते हैं।
कम रोग प्रतिरोधक क्षमता (Low immunity)
एक इंसान जिसे अपनी डाइट से पर्याप्त पोषण या ऊर्जा नहीं मिलता है तो उसकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कम होती है और वह बीमार पड़ जाते हैं।
थकान और थकान (Tiredness and fatigue)
पर्याप्त डाइट न मिलने से ऊर्जा में कमी हो जाती है और हर समय थकान महसूस होती रहती है।
एनीमिया (Anemia)
कम वजन वाले इंसान में रक्त की मात्रा कम हो सकती है, जिस बीमारी को एनीमिया कहा जाता है। एनीमिया के लक्षणों में चक्कर आना, सिरदर्द और थकान शामिल होती है।
पीरियड्स में अनियमितता (Irregular Periods)
जिन महिलाओं का वजन कम होता है, उनके पीरियड्स अनियमित और दर्दनाक होते है और काई बार तो ऐसा होता है कि पीरियड्स बिल्कुल रुक ही जाते हैं।
धीमी या खराब वृद्धि (Slow or poor growth)
युवाओं को स्वस्थ हड्डियों को विकसित करने के लिए उचित पोषक तत्वों की आवश्यकता होती है। यही कारण है कि कम वजन होने और पर्याप्त कैलोरी नहीं मिलने का मतलब है कि इंसान के विकास में बाधा आ सकती है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author