December 3, 2022

Knowledge News : Toilet Flush में क्यों होता है एक बड़ा और एक छोटा बटन, क्या आप जानते हैं इसकी वजह

wp-header-logo-190.png

वाशरूम (Washroom) एक ऐसी जगह है जो हर घर और होटल जैसी जगहों का एक जरुरी हिस्सा होती है। वाशरूम चाहे घर का हो या किसी और जगह का वहां पर साफ-सफाई का खास ध्यान रखा जाता है। इसके साथ ही वहां की एसेसरीज पर भी काफी ज्यादा ध्यान दिया जाता है। बदलते वक्त के साथ-साथ आज के समय में घर से लेकर शॉपिंग मॉल और सिनेमा घरों तक के वाशरूम में नए जमाने के नए अंदाज के मॉर्डन फिटिंग्स की एंट्री हो चुकी है। ऐसे में आपने उन वाशरूम में लगे बहुत से तरह के फ्लश देखे और इस्तेमाल किए होंगे। अक्सर कुछ फ्लश (Flush) ऐसे होते हैं जिनमें एक बड़ा और एक छोटा बटन देखने को मिलता है। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि आखिर ऐसा क्यों होता है। अगर नहीं तो चलिए आज हम आपको बताते हैं कि ये क्यों होते हैं।
पानी बचाने का विचार
दरअसल, होता यह है कि मॉर्डन टॉयलेट्स में दो तरह के लीवर्स या फिर बटन होते हैं और दोनों बटन, एक एक्जिट वॉल्व (Exit Valve) से जुड़े होते है। अगर बड़े बटन को प्रेस करते हैं तो उससे करीब 6 लीटर पानी निकलता है। वहीं अगर छोटे बटन को प्रेस किया जाए तो उससे 3 से 4.5 लीटर तक पानी निकलता है। तो चलिए अब जानते हैं कि आखिर इस तरह से कितने पानी की बचत हो जाती है।
होती है भारी बचत
एक रिपोर्ट के अनुसार अगर एक घर में सिंगल फ्लश (Single Flush) के बजाए ड्युल फ्लशिंग (Dual Flushing) को अपनाया जाए तो पूरे साल में लगभग 20 हजार लीटर तक पानी की बचत की जा सकती है। भले ही चाहे इसका इंस्टॉलेशन सामान्य यानी नॉर्मल फ्लश से कुछ महंगा हो। लेकिन इस तरिके से आपके पानी के बिल में कटौती की पूरी गारंटी दी जा सकती है। वहीं अगर ड्यूल फ्लश कॉन्सेप्ट के बारे में बात की जाए तो ये अमेरिकी इंडस्ट्रीयल डिजाइनर विक्टर पैपनेक के दिमाग से आया हुआ है। बता दें कि साल 1976 में विक्टर पेपनेक ने अपनी किताब Design For The Real World में इसका जिक्र भी किया था। इसे आप इंटरनेट की मदद से खुद वहां पर मौजूद कई वीडियोज से इस डबल बटन सिस्टम के फायदों की पड़ताल कर सकते हैं।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author