December 6, 2022

राजस्थान समेत सात राज्यों में आयकर विभाग ने की छापेमारी

wp-header-logo-172.png

news website
नई दिल्ली. आयकर विभाग ने पंजीकृत गैर मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों को चंदा देने में फर्जीवाड़े की जांच के सिलसिले में कई जगहों पर छापे मारे। साथ ही, आयकर अधिकारियों ने स्कूली बच्चों के लिए चलाई जा रही मध्याह्न भोजन योजना में घोटाले को लेकर भी बुधवार को देशभर में तलाशी अभियान शुरू किय।
आयकर विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बुधवार को यह जानकारी दी। अधिकारी ने कहा कि राजस्थान, कर्नाटक, महाराष्ट्र, दिल्ली, मध्यप्रदेश, गुजरात और उत्तरप्रदेश में छापे मारे गए हैं।
लखनऊ में सूत्रों ने कहा कि आयकर की टीमों ने कानपुर में भी कुछ जगहों पर तलाशी की कार्रवाई की है। नई दिल्ली में एक अधिकारी ने बताया कि यह विभाग द्वारा समन्वित कार्रवाई का हिस्सा है। कर चोरी के बारे में विश्वसनीय जानकारी के बाद, विभाग ने लोगों और संस्थाओं पर एक समन्वित कार्रवाई की है। इसमें कई संस्थाएं, व्यक्ति और फर्म शामिल हैं। जब्त किए गए दस्तावेजों की समीक्षा के बाद ही हमें घोटाले या कालेधन के आकार का पता लगेगा।
गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव के परिवार के प्रतिष्ठानों पर छापे
राजस्थान के गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव के परिवार के विभिन्न प्रतिष्ठानों पर आयकर विभाग ने बुधवार सुबह से छापे की कार्यवाही शुरू की। आयकर विभाग ने राजस्थान, उत्तराखंड एवं गुड़गांव में यादव परिवार के प्रतिष्ठानों पर एक साथ छापे की कार्रवाई की गई। यादव के रिश्तेदारों की कोटपूतली स्थित राजस्थान फ्लेक्सिबल पैकिंग फैक्ट्री पर भी सच की गई। गृह राज्यमंत्री राजेंद्र यादव इस कंपनी के डायरेक्टर हैं।
कम्पनी के प्रबंधक मधुर यादव है। मधुर यादव राज्यमंत्री राजेंद्र यादव के बड़े पुत्र हैं। बुधवार सुबह करीब साढ़े 5 बजे आयकर विभाग की टीमें मंत्री के जयपुर और कोटपूतली के ठिकानों पर पहुंची। यादव कोटपूतली (जयपुर) से विधायक हैं। बताया जा रहा है कि फैक्ट्री में मिड-डे मील सप्लाई के लिए कट्टे बनाए जाते हैं। कार्रवाई में लगभग 100 वाहनों का भी इस्तेमाल किया गया।
जयपुर में मंत्री के घर व ऑफिस पर भी रेड
जयपुर में राज्यमंत्री यादव के सिविल लाइंस स्थित सरकारी घर और बनी पार्क के निजी आवास सहित मालवीय नगर के आॅफिस में भी इनकम टैक्स के अधिकारी पहुंचे। आयकर विभाग के ऑपरेशन से अन्य कारोबारियों में भी हड़कंप मच गया है।
मिड डे मिल से हमारा कोई संबंध नहीं: यादव
छापों को लेकर राजेंद्र यादव ने कहा कि आयकर विभाग जांच करे, इसमें मुझे कोई आपत्ति नहीं है। मेरे पिताजी के समय से 1950 से हमारा कारोबार है। कभी कोई गलत काम नहीं किया, हमने साफ सुथरा काम किया है। यादव ने कहा कि आयकर की कारवाई में कोई राजनीतिक दुर्भावना होगी तो वह भी सामने आ जाएगी।
मिड डे मील से कोई हमारा संबंध नहीं है, हम कट्टे और पैकेजिंग समान बनाते हैं। यहां से कट्टे जाने के बाद उसमें कोई क्या भरता है, इसके लिए हम जिम्मेदार नहीं हैं। कार्रवाई के दौरान यादव ने बताया कि हमारे तीन ठिकानों पर बच्चों एवं परिवार का बिजनेस हैं और वहां पर आयकर विभाग ने सर्च की है।
उन्होंने आरोप लगाया कि सबके सामने है कि जिस तरह संस्थाओं का दुरुपयोग किया जा रहा है। जो कोई चीज गलत हैं तो हम तैयार है लड़ाई लड़ने के लिए। सच्चाई छुपती नहीं है। अगर कोई अवैध रूप से काम करता है तो उसे पकड़ना चाहिए है, हम भी यही कह रहे हैं, इसमें क्या दो राय है।
Your email address will not be published. Required fields are marked *







This is the News Website by Chambal Sandesh
Rajasthan, Kota
THIS IS CHAMBAL SANDESH YOUR OWN NEWS WEBSITE

  • एजुकेशन
  • कर्नाटक
  • कोटा
  • गुजरात
  • Chambal Sandesh

    source

    About Post Author