September 25, 2022

Lock Upp में हुआ पहला एलिमिनेशन, कंगना की जेल से इस कैदी को मिली रिहाई

wp-header-logo-130.png

बॉलीवुड क्वीन कंगना रनौत (Kangana Ranaut) का ‘लॉक अप’ (Lock Upp) आजकल सोशल मीडिया पर धमाल मचा रहा है। आए दिन शो में नए-नए ट्विस्ट देखने को मिलते हैं वहीं अब शो में पहला एलिमिनेशन हो चुका है। 13 कंटेस्टेंट में स्वामी चक्रपाणि महाराज (Swami Chakrapani Maharaj) को जेल से सबसे पहले रिहाई मिली। उन्होंने कंगना से कहा कि वह खुद शो से बाहर जाना चाहते हैं और उन्होंने बॉटम 2 में अपने साथ मौजूद सिद्धार्थ शर्मा (Siddharth Sharma) को बचाया। 5 एलिमिनेटेड कंटेस्टेंट में मुनव्वर फारुकी (Munawar Faruqui) दर्शकों से ज्यादा वोट मिलने के बाद सेव हो गए। अन्य घरवालों ने शिवम शर्मा (Shivam Sharma) को बचाया। इस तरह स्वामी चक्रपाणि, सिद्धार्थ और अंजलि अरोड़ा बॉटम 3 में थे। उनमें से प्रत्येक को ‘बेनाकाब रूम’ में बुलाया गया, जहां उन्हें सीक्रेट रिविल करना था।
अंजलि ने किया अपना सीक्रेट रिविल
कंगना ने उन्हें यह कहकर खुद को बचाने का मौका दिया कि केवल एक ही कंटेस्टेंट अपने सीक्रेट को शेयर कर सकते हैं और सेव हो सकते हैं। इस दौरान अंजलि सबसे पहले बजर दबाती है और अपना सीक्रेट रिविल करती है कि एक बार वह रूस गई और उसके पास किसी से जुड़ने के लिए पैसे या सिम कार्ड नहीं थे। उसने किसी से पैसे मांगे और बदले में वह उस व्यक्ति के साथ एक पार्टी में गई। जिसके बाद बॉटम 2 में स्वामी जी ने बाहर जाने की इच्छा व्यक्त की। उन्होंने महसूस किया कि इस शो में उनकी उपस्थिति का उनके करियर से कोई लेना-देना नहीं है, हालांकि, इससे सिद्धार्थ को बेहतर प्रदर्शन में मदद मिल सकती है। जिसके बाद कंगना स्वामी जी के रवैये से काफी खफा थीं।
कंगना स्वामी जी के रवैये से काफी खफा
एक्ट्रेस ने कहा, “मैंने आपको सबसे मजबूत दावेदार के रूप में सोचा था। लेकिन जिस दिन आपने चार्जशीट में अपना नाम किसी और की जगह लिख दिया, उसी दिन मैंने आपके पक्ष में बोलना बंद कर दिया। आप जेल से बाहर जाना चाहते थे। आपने खुद को अयोग्य कहा। मुझे नहीं पता कि आप इस त्याग के रवैये से क्या साबित करना चाहते थे। ऐसा नहीं है कि दुनिया कैसे काम करती है। आपने मेरी जेल में गलत मिसाल कायम की है और सिद्धार्थ भी आपके प्रभाव में आ गए हैं। मुझे डर है कि अगले हफ्ते वह आउट हो सकते हैं।”
स्वामी जी ने रखी अपनी बात
जिसके बाद स्वामी जी ने कहा, “मुझे अपने दम पर रहना पसंद है। मुझे कोई शिकायत नहीं है और कोई पछतावा नहीं है। मेरे पास दिखाने के लिए कुछ नहीं है और प्रभावित करने के लिए कोई नहीं है।” बॉलीवुड अभिनेत्री ने कहा, “आप घर में सदमे में चले गए और मुश्किल स्थिति से नहीं निपट सके। आप हार गए। आपकी आध्यात्मिकता काम नहीं आई। आप ने ये छोटे से अत्याचार के सामने घुटने टेक दिए।” जिसके बाद स्वामी जी जेल से रिहा हो गए।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author