July 1, 2022

युगों-युगों तक गाए जाएंगे लता मंगेशकर के ये सदाबहार नगमे, अमिट हो चुकी है स्वर कोकिला की पहचान

wp-header-logo-114.png

सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर (Lata Mangeshkar) का निधन हो चुका है। 13 साल की उम्र में गायन की शुरुआत करने वाली स्वर कोकिला ने देश को कई ऐसे नगमें दिए हैं जो भारतीय संगीत को दुनियाभर में पोपुलर कर दिया है। अपनी मधुर आवाज से वह म्यूजिक इंडस्ट्री पर दशकों से राज कर रही थी। गायिकी की दुनिया में एक अमिट छाप छोड़ चुकी 92 वर्षीय गायिका को 11 जनवरी को कोविड-19 के कारण निमोनिया होने का पता चला था। लता मंगेशकर को ‘द नाइटिंगेल ऑफ इंडिया’ कहा जाता है। लता ने 1942 में 13 साल की उम्र में अपने सफल गायन करियर की शुरुआत की और कई भारतीय भाषाओं में उनके नाम 30,000 से अधिक गाने हैं। तो आइये सुनते हैं लता मंगेशकर के सुपरहिट गाने (Lata Mangeshkar songs) जिन्हें सुनकर आप संगीत के अलग ही दुनिया में खो जाएंगे।
प्यार किया तो डरना क्या
म्यूजिक इंडस्ट्री में इस गाने का एक अलग ही पहचान है। 1960 में मुगल-ए-आजम फिल्म का यह गाना लता मंगेशकर की आवाज में लोगों के दिलों को आज भी छु लेती है ।

अजीबं दास्तां हैं ये
दिल अपना और प्रीत पराई (1960) के गानों में से एक ‘अजीब दास्तान है ये’ भी लता जी ने बहुत खूबसूरती से गाया था। यह शंकर-जयकिशन द्वारा रचित और मीना कुमारी द्वारा लिप-सिंक किया गया था।

ऐ मेरे वतन के लोगों
लता जी ने जनवरी 1963 में भारत-चीन युद्ध की पृष्ठभूमि के खिलाफ एक देशभक्ति गीत गाया था। यह गीत भारत के तत्कालीन प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू की उपस्थिति में ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ था। कहा जाता है कि इस गाने ने पूर्व प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू की आंखों में आंसू ला दिए थे।

मेरा साया साथ होगा
लता के इस गाने को आज भी काफी पसंद किया जाता है। सुनील दत्त की फिल्म ‘साया’ का ये गीत आज भी एकदम नया लगता है और यह गाना कही दूर भी सुनाई दे हम खुद को गुनगुनाने से नही रोक पाते हैं ।

मेरी आवाज ही पहचान है
फिल्म किनारा का यह गाना युगों युगों तक गाए जाएंगे और जब भी यह गाना सुनाई देगा लता मंगेशकर की याद दिलाएगी।

लग जा गले
‘वो कौन थी’ फिल्म का यह गाना संगीत की दुनिया में दशकों से राज कर रहा है।
रहे न रहे हम
आपकी नजरों ने समझा

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source