December 8, 2022

Overthinking की समस्या से हैं परेशान तो इन आसान स्टेप्स से करें अपना बचाव, लाइफ में होगा जबरदस्त बदलाव!

wp-header-logo-53.png

How To Stop Overthinking: धरती पर रहने वाला हर व्यक्ति हर तरह से स्वतंत्र (Right To Freedom) है और उसे अपने लिए सोचने की पूरी आजादी (Independent) भी दी गई है। अब यह आप पर निर्भर करता है कि आप अपने विचारों को सही राह देना चाहते हैं या बिना निष्कर्ष के बस यूंही उनके बारे में सोचते रहना चाहते हैं। आपने अक्सर महसूस किया होगा कि कई लोगों को पता भी नहीं चलता की वो ओवरथिंक (Overthink) कर रहे हैं, ओवर थिंकिंग के बारे में पता लगाने का सबसे इजी तरीका यह है कि अगर आप पूरे दिन उन चीजों के बारे में सोचते रहते हैं जो अभी तक हुई भी नहीं है या फिर उन चीजों के बारे में जो बीत चुकी हैं। अपनी किसी समस्या पर सोचना कोई गलत बात नहीं है, लेकिन जरूरत से ज्यादा सोचना गलत है। इसी तरह अपने भविष्य की चिंता करना गलत नहीं है लेकिन सर ख़याली पुलाओ पकाते रहना और कर्म (Tricks To Stop Overthinking) ना करना गलत है।
इस तरह के साइन अगर आपको अपने अंदर नजर आते हैं तो आप ओवर थिंकर हैं। वैसे तो इस समस्या से बचने का कोई खास तरीका नहीं है, क्योंकि यह आपके विचारों की बात है जिसे बस आप ही सही राह दिखा सकते हैं और कंट्रोल कर सकते हैं। सीधे शब्दों में कहें तो आप की इस समस्या का हल आप खुद ही हैं। आप इससे बचने के लिए कुछ ट्रिक्स और प्लानिंग कर सकते हैं, आज की इस खबर में हम आपको इसी तरह के कुछ सुझावों के बारे में बताएंगे जो आपको ओवर थिंक करने से बचने और बेहतर लाइफस्टाइल को फॉलो करने में मदद करेंगे।

सबसे पहले आप उन चीजों को करने की कोशिश कर सकते हैं जिन्हें आप करना पसंद करते हैं और जिसमें आपकी रूचि है। यह कुछ भी हो सकता है जैसे- कुकिंग, डांसिंग, पेंटिंग, सिंगिंग, किताबें पढ़ना आदि। ऐसा करने से आपका ध्यान बट जाएगा और आप उस टॉपिक पर ज्यादा नहीं सोचेंगे जिसे आप अवॉयड करना चाहते हैं।

जब भी आप परेशान या स्ट्रेस्ड महसूस करें तो बस गहरी सांस लें और फिर सांस को छोड़ें। हमें यकीन है कि यह आपको शांत कर देगा और ठन्डे दिमाग के साथ आप अपनी जिंदगी के बेहतर फैसले ले पाएंगे।

आप रोजाना मेडिटेशन को अपनी आदत का अहम हिस्सा बना सकते हैं। इससे आपका मानसिक स्वास्थ्य बेहतर होगा और आपको आंतरिक शांति मिलेगी।

नेगेटिव थॉट्स को पहचान कर उन्हें अपने दिमाग से बहार फेंक दे, अपने विचारों को नोट करें और पैटर्न को समझने का प्रयास करें। जब भी मन में कोई बुरा विचार आए तो अपना ध्यान भटकायें और खुद से कहें कि आप बेहतर कर रहे हैं। इससे आप कोई भी गलत फैसला नहीं लेंगे।

अब तक आपने जो कुछ भी हासिल किया है, उसे एक नोटबुक में लिख लें और अपनी प्रशंसा करें, उसके लिए आभारी रहें। ये तरीके आपकी ओवर थिंकिंग के तूफ़ान को थामने की पूरी कोशिश करेंगे। अपना ख्याल रखें और किसी भी समस्या को अपने ऊपर हावी ना होने दें।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author