August 8, 2022

IND vs AUS Hockey match: भारतीय महिला हॉकी टीम के साथ semi-finals में हुआ धोखा, जानें क्या है पूरा मामला

wp-header-logo-153.png

इंग्लैंड के बर्मिंघम में खेले (Indian women’s hockey team) जा रहे 22वें कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय महिला हॉकी टीम शानदार फॉर्म में रही। वह इस दमदार खेल के बदौलत सेमीफाइनल में पहुंची(semi-finals due to this strong game) । मगर यहां उसे बेईमानी का शिकार होना (victim of dishonesty) पड़ा। जिसका खामियाजा उसे सेमीफाइनल में हार के साथ चुकाना पड़ा।भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच यह मैच ड्रॉ (3-0 in the penalty shootout) रहा था। इसके बाद पेनल्टी शूटआउट में ऑस्ट्रेलिया ने 3-0 से मैच अपने नाम कर लिया। बस इसी पेनल्टी में भारतीय टीम के साथ बेईमानी हुई, जिसके बदौलत पूरी टीम निराश हो गई थी (disappointed)।
पूरा मामला
दरअसल, कॉमनवेल्थ में शुक्रवार (5 अगस्त) को भारतीय महिला हॉकी टीम का सेमीफाइनल मुकाबला (Commonwealth, the Indian women’s hockey team) ऑस्ट्रेलिया से था। इस मुकाबले में शुरुआती तीन क्वार्टर तक ऑस्ट्रेलिया 1-0 से हावी था, लेकिन चौथे क्वार्टर में भारत (India leveled the match) ने गोल दागकर मैच बराबर कर दिया। यह एकमात्र गोल वंदना कटारिया (Vandana Katariya) ने 49वें मिनट में दागा था। इसके बाद मैच फुल टाइम खत्म होने के बाद ड्रॉ पर खत्म हो गया। इस कारण मैच को पेनल्टी शूटआउट (penalty shootout) में पहुंचा। ऑस्ट्रेलिया के पहले पेनल्टी शूटआउट में भारतीय कप्तान और गोलकीपर सविता पूनिया ने फुर्ती दिखाते हुए गोल बचा (Savita Poonia saved the goal) लिया था। मगर यहां रेफरी ने बताया कि टाइमर चालू ही (penalty again)नहीं था। यही वजह रही कि ऑस्ट्रेलिया को यही पेनल्टी दोबारा लेनी (penalty again) पड़ी।
इसपर भारतीय फैंस ने नाराजगी जताई है और उन्होंने टीम के साथ बेईमानी का आरोप लगाया (dishonesty)है। सोशल मीडिया पर इसको लेकर कई पोस्ट किए गए हैं। ट्विटर पर चीटिंग नाम से एक हैशटैग भी ट्रेंड कर रहा है। वही इसकी आलोचना पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी (former Indian cricketer Virender Sehwag) की है।
Penalty miss hua Australia se and the Umpire says, Sorry Clock start nahi hua. Such biasedness used to happen in cricket as well earlier till we became a superpower, Hockey mein bhi hum jald banenge and all clocks will start on time. Proud of our girls 🇮🇳pic.twitter.com/mqxJfX0RDq
कप्तान सविता पूनिया ने कहा

आपको बता दें कि भारतीय कप्तान सविता पूनिया (Indian captain Savita Poonia)ने हालांकि इस घटना को खास (special attention to this incident) तवज्जो नहीं दी। उन्होंने कहा, ”शूटआउट में भाग्य ने हमारा साथ नहीं दिया। हमने पहला गोल बचा दिया था लेकिन हमें बताया गया कि अभी घड़ी (try to come back)” शुरू नहीं हुई थी।” सविता ने कहा, ”इसने निश्चित तौर पर खिलाड़ियों की मनस्थिति पर प्रभाव डाला लेकिन हमें हमारी कोच ने बताया कि यह सब खेल का हिस्सा है और हमें वापसी की कोशिश करनी (try to come back) चाहिए।”
उन्होंने कहा, ”निश्चित तौर पर मैं इससे दुखी हूं लेकिन मुझे अपने खिलाड़ियों पर गर्व (proud of my players who made a great comeback) है जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया जैसी टीम के खिलाफ 0-1 से पिछड़ने के बाद शानदार वापसी की। हमने मध्यांतर में फैसला किया कि हमें (least one goal and we were successful)कम से कम एक गोल करना है और हम इसमें सफल रहे।” भारत और रविवार को कांस्य पदक के मैच में न्यूजीलैंड का सामना करेगा (successful in that)।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author