August 15, 2022

वसुंधरा राजे बोलीं- कन्हैया का वीडियो खौफनाक, नहीं देख पाई, हत्याकांड की जिम्मेदार गहलोत सरकार

wp-header-logo-73.png

जयपुर। राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल साहू की हत्या को लेकर देश की जनता में आक्रोश है। इस हत्याकांड के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की नाकामी को कोस रहे है। कन्हैयालाल की हत्या के छठे दिन बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे भी उनके घर पहुंची। उन्होंने कन्हैया की तस्वीर के आगे श्रद्धांजलि अर्पित कर पत्नी और दोनों बेटों से 50 मिनट तक मुलाकात की। राजे ने कहा कि यह घटनाक्रम राज्य सरकार का बड़ा फेल्योर है। करौली हिंसा के बाद भी कडे़ एक्शन लिए जाते तो यह आज घटना नहीं होती। आरोपियों को जल्द से जल्द फांसी दी जानी चाहिए। हत्या का वीडियो खौफनाक था। उसे पूरा भी नहीं देख पाई।
कन्हैया हत्या का वीडियो खौफनाक, नहीं देख पाई
राजे ने कहा कि वायरल वीडियो काफी विभत्स था। वो उसे पूरा भी नहीं देख पाई। अपराधी का कोई जाति नहीं होती। उनका कोई मजहब नहीं होता। उनको सीरियस रूप से ट्रीट करना चाहिए। कन्हैया परिवार को न्याय मिलना चाहिये। राजे ने कहा कि इस तरह का अपराध उन्होंने पहले कभी नहीं देखा। 4 सालों में स्थिति बिगड़ते हुए आज ज्यादा खराब हो गई है।

कन्हैयालाल हत्याकांड की जिम्मेदार गहलोत सरकार
पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा कि उदयपुर में कन्हैयालाल टेलर की हत्या की पूरी तरह से जिम्मेदार राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार है। रोजाना मेहनत करके परिवार का पेट पालने वाले कन्हैया लाल को गहलोत सरकार से सुरक्षा मिल जाती, तो उनकी हत्या नहीं होती। अगर कोई भी सरकार प्रदेश के नागरिक को मांगने पर भी सुरक्षा उपलब्ध नहीं करा सकती, तो उसे सत्ता में बने रहने का कोई हक नहीं है।
आरोपियों को होनी चाहिए फांसी की सजा
निर्मम हत्या का शिकार हुए कन्हैया लाल के बारे में राजे ने कहा कि सीएम अशोक गहलोत कहते हैं कि हर गलती कीमत मांगती है। अब वो ही बताएं उनकी सरकार ने जो गलती कि है उसकी क्या कीमत है। इस मामले की गहराई से जांच और आरोपियों को फांसी की सजा होनी चाहिए।
सुरक्षा मिल जाती, तो आज मांग में सिंदूर होता
वसुंधरा राजे सोमवार रात उदयपुर पहुंची और निर्मम हत्या के शिकार हुए कन्हैयालाल के परिजनों से मिलीं। उन्होंने कन्हैयालाल टेलर की पत्नी को गले से लगाया और भावुक हो गईं। मृतक की पत्नी ने राजे से कहा कि अगर पति को सुरक्षा मिल जाती, तो आज मेरी मांग में सिंदूर होता।

NIA जांच की तुरंत घोषणा के लिए मोदी-शाह को धन्यवाद
सूबे की पूर्व सीएम राजे ने इस मामले में तुरंत एक्शन लेने के लिए गृहमंत्री और प्रधानमंत्री को धन्यवाद दिया है। हत्याकांड के बाद NIA जांच की तुरंत घोषणा की। कुछ ही दिन में NIA ने यहां आकर अपना काम चालू कर दिया है। मैं दोनों को धन्यवाद देना चाहती हूं कि इतनी जल्दी एक्शन हुआ। जितना जल्दी उन्होंने एक्शन किया है, मेरा विश्वास यह है कि यहां के अधिकारी,पुलिस-प्रशासन भी जितना जल्दी सबके सामने चीजों को ले जाए।
यूपी में योगी कर सकते हैं, यहां अशोक गहलोत नहीं
बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राजे ने कहा है अशोक गहलोत मुख्यमंत्री तो हैं ही,साथ में गृह मंत्री भी हैं। जो अपनी जिम्मेदारी को तो समझते नहीं, उल्टा हर मामले को प्रधानमंत्री मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर डालने की जबरदस्ती कोशिश करते हैं। जबकि दिल झकझोर देने वाली इस घटना के बाद आज प्रदेश में आतंक और डर का माहौल है। लोगो में खौफ और असुरक्षा की भावना पैदा हो गई है। ऐसे माहौल को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ खत्म कर वहां शांति कायम कर सकते हैं, लेकिन राजस्थान में गहलोत नहीं।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author