January 29, 2023

सर्दियों में नहाने की आदत बनेगी मौत की वजह? जानिए हार्ट अटैक और स्ट्रोक के मामलों में क्यों हो रहा इजाफा

wp-header-logo-85.png

Bathing Can Cause Heart Attack: उत्तर भारत (North India) में दिसंबर बीतने के बाद जनवरी महीने से सर्दियों का असली कहर बरपा है। सर्दी इतनी ज्यादा पड़ रही है कि रजाइयों से बाहर निकलने का मन नहीं कर रहा है। रोज सुबह लोग एक चीज को लेकर बहुत ही ज्यादा कंफ्यूज रहते हैं वह है सर्दियों में नहाएं या नहीं? ऐसे में बहुत से लोग गर्म पानी से नहाना पसंद करते हैं, तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो पानी में ठंडे पानी से नहाते हैं। आपको ये जानकर हैरानी होगी कि सर्दियों में आप किस तरह नहाते हैं, इस बात का सीधा असर आपके दिल पर पड़ता है। बता दें कि घर के अंदर और बाहर के तापमान में बहुत ज्यादा फर्क होता है। जिस कारण हमारे हृदय पर स्ट्रेस बढ़ता है और ब्लड वेसल्स सिकुड़ जाती हैं।
किस तरह के पानी से नहाना चाहिए?
ठंडी और गर्म दोनों तरह के पानी से नहाना आपकी बॉडी के लिए शॉक का कारण बन सकता है। जिसे शरीर आसानी से एडजस्ट नहीं कर पाता और हृदय संबंधी रोग, हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल, आदि बीमारियां आपको घेर लेती हैं। ऐसे में आप इस तरह के शॉक और उससे होने वाली गंभीर समस्याओं से बचने के लिए गुनगुने पानी से नहा सकते हैं। यह अचानक झटके से बचने में आपकी मदद करेगा और शरीर को स्ट्रेस भी नहीं होगा। असल में गुनगुना पानी शरीर के तापमान को बढ़ाता है और ब्लड सरकुलेशन को भी तेज करता है। ऐसे में नहाने का सबसे बेस्ट तरीका यह है कि आप गुनगुने पानी से नहाएं ना ज्यादा ठंडा ना ज्यादा गर्म, सबसे पहले पैरों पर पानी डालना चाहिए। फिर जब एक बार बॉडी एडजस्टमेंट कर ले तो आप जल्दी से नहा सकते हैं।
हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी समस्याओं के कारण?
जब हम सर्दियों में ठंडे पानी या ज्यादा गर्म पानी के संपर्क में आते हैं तो हमारे रोंगटे खड़े हो जाते हैं। ऐसे में हमें ठंडे और ज्यादा गर्म दोनों ही तरह के पानी से दूरी बनानी चाहिए। रोंगटे खड़े होने की बात करें तो हमारा शरीर इस तरह रिएक्ट इसलिए करता है क्योंकि ये इमरजेंसी स्थिति होती है और ब्लड सरकुलेशन एकदम से तेज हो जाता है। जिस कारण आपका दिल आपके बॉडी पार्ट्स की सुरक्षा के लिए तेजी से रक्त पंप करता है और आपकी स्किन के पास सरकुलेशन को रोकता है। जिस वजह से आपको कंपन महसूस होती है, बता दें कि इस पूरी प्रोसेस में दिल पर सबसे ज्यादा दबाव होता है। शरीर पर अचानक ठंडा या गर्म पानी पड़ने से तापमान कम होने के साथ पेरीफेरल वैस्कुलर रेजिस्टेंस बढ़ जाता है। यह स्थिति ब्लड प्रेशर को बढ़ावा देती है। जिससे स्ट्रोक और हार्ट अटैक आ सकता है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author