August 9, 2022

PV Sindhu Birthday: 2 ओलंपिक मेडल जीत कर सिंधु ने बढ़ाया देश का मान, ये है इनकी खास उपलब्धियां

wp-header-logo-56.png

PV Sindhu Birthday: 2 ओलंपिक मेडल लाने वाली खिलाड़ी, ये है इनकी खास उपलब्धियां
भारतीय बैडमिंटन (Badminton) खिलाड़ी पीवी सिंधु (PV Sindhu) आज किसी पहचान की मोहताज नहीं है। सिंधु आज 27 साल की हो गई है। उनका जन्म 5 जुलाई 1995 को हैदराबाद में हुआ था। सिंधु ने बैडमिंटन को शिखर तक पहुंचाने में अपना अहम योगदान दिया है। पीवी सिंधु भारत की ओर से 2 ओलंपिक पदक जीतने वाली पहली महिला एथलीट है। ऐसे तो पीवी सिंधु के बारे में बताने के लिए बहुत कुछ है, लेकिन आज हम आपको उनकी कुछ खास उपलब्धियों के बारे में बताएंगे।
BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप गोल्ड जीतने वाली पहली खिलाड़ी
पीवी सिंधु साल 2019 में BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी थी। उन्होंने अपने इस मुकाबले में जापान की नाओमी ओकुहारा को फाइनल में 21-7, 21-7 से हराकर ये उपलब्धि हासिल की थी। 36 मिनट चले इस मुकाबले में सिंधु ने ओकुहारा को लगभग एकतरफा मुकाबले में हराया था। गोल्ड मेडल जीतने से पहले सिंधु 2017 और 2018 में इसी प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल जीत चुकी थी।
5 वर्ल्ड चैंपियनशिप मेडल जीतने वाली पहली भारतीय
BWF वर्ल्ड चैंपियनशिप का गोल्ड मेडल सिंधु का पांचवां वर्ल्ड चैंपियनशिप मेडल था। वो वर्ल्ड चैंपियनशिप में 5 मेडल जीतने वाली एकमात्र भारतीय है। सिंधु ने 2017, 2018, में दो सिल्वर और 2013 और 2014 में दो ब्रोंज मेडल अपने नाम किये थे। सिंधू वर्ल्ड चैंपियनशिप में सबसे तेज पांच पदक हासिल करने वाली खिलाड़ी हैं।
इतिहास में सबसे लंबा फाइनल खेला
पीवी सिंधु ने वर्ल्ड चैंपियनशिप 2017 के दौरान इतिहास का सबसे लंबा फाइनल खेला। उन्होंने ओकुहारा के खिलाफ 110 मिनट तक मैच खेला लेकिन वो इसे जीतने में सफल नहीं हो पायी। हालांकि, ये टूर्नामेंट के इतिहास का सबसे लंबा फाइनल बन गया था।
सिंधु को मिले ये पुरस्कार
अगर बात राष्ट्रीय पुरस्कारों की करें तो पीवी सिंधु को 2020 में भारत के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके आलावा उनको साल 2015 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। खेल में अपने महत्वपूर्ण योगदान के लिए सिंधु को राजीव गांधी खेल रत्न और अर्जुन अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author