January 27, 2023

पेपर लीक केस : सरगना भूपेंद्र और सुरेश ढाका पर 25-25 हजार का इनाम घोषित, दोनों अब भी फरार

wp-header-logo-65.png

जयपुर। राजस्थान लोक सेवा आयोग की ओर से आयोजित सैकेंड ग्रेड अध्यापक परीक्षा के पेपर लीक मामले में फरार मास्टरमाइंड सरगना भूपेंद्र सारण और सुरेश ढाका अभी तक पुलिस की पकड़ से दूर है। बीते कुछ दिनों से पुलिस की ओर से प्रदेश में कई जगहों पर दबिश देने के बाद भी दोनों फरार आरोपियों का कोई सुराग नहीं लगा है। ऐसे में डीजीपी उमेश मिश्रा के निर्देश पर पुलिस मुख्यालय की क्राइम ब्रांच ने दोनों मुख्य आरोपियों भूपेंद्र सारण और नामी कोचिंग के संचालक सुरेश ढाका पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है।
मास्टरमाइंड का पता बताने पर पुलिस देगी इनाम
सेकंड ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले में फरार चल रहे आरोपी भूपेंद्र सारण और सुरेश ढाका अब भी फरार चल रहे हैं। इनकी गिरफ्तारी पर पुलिस मुख्यालय द्वारा 25-25 हजार रुपयों के इनाम की घोषणा की गई है। डीजीपी राजस्थान उमेश मिश्रा ने बताया कि दोनों की बदमाश पेपर लीक प्रकरण के मुख्य आरोपी हैं। जिसे भी इनकी जानकारी मिले वह पुलिस कंट्रोल रूम को फोन कर के सूचना दे।
अब तक 46 अभ्यर्थी सहित 57 लोग गिरफ्तार
बता दें कि इस मामले में पुलिस ने अब तक 57 लोगों को गिरफ्तार किया है जिनमें से 46 अभ्यर्थी शामिल हैं। फिलहाल पुलिस पेपर लीक प्रकरण के मास्टरमाइंड सुरेश बिश्नोई से लगातार पूछताछ कर रही है। पेपर लीक मामले में मंगलवार को पुलिस ने 41 आरोपियों की रिमांड अवधि पूरी होने के बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया गया जहां से न्यायालय ने 38 आरोपियों को न्यायिक अभिरक्षा में भेज दिया है। वहीं पुलिस ने मास्टरमाइंड सहित तीन आरोपियों की पुलिस रिमांड मांगी थी जिसको न्यायालय ने स्वीकृति जारी की है।
12 से ज्यादा ठिकानों पर दबिश दी
डीजीपी राजस्थान उमेश मिश्रा ने बताया कि दोनों बदमाश उदयपुर में पुलिस एक्शन के बाद से फरार चल रहे हैं। इन की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने 12 से ज्यादा ठिकानों पर दबिश दी, लेकिन बदमाश नहीं मिले। पुलिस का अनुमान है कि ये बदमाश राजस्थान या पास के राज्यों में छिपे हुए हैं। वहीं, एसओजी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए विदेश में भी संपर्क में है।
भूपेंद्र के ठिकानों पर मिली थी फर्जी डिग्रियां और मार्कशीट्स
करणी विहार थाना पुलिस ने भूपेंद्र सारण की पत्नी, उसके भाई की पत्नी और मानसरोवर में प्रेमिका सहित 7 लोगों को गिरफ्तार किया था। पुलिस की छापेमारी में भूपेंद्र सारण के ठिकानों से कई नामी कॉलेजों व यूनिवर्सिटीज के नाम से जारी मार्कशीट्स और डिग्रियां बरामद की गई थी। ये कॉलेज और यूनिवर्सिटी बाहरी राज्यों में मौजूद हैं। पुलिस के मुताबिक लाखों रुपये के बदले ये डिग्री और मार्कशीट फर्जी तरीके से बनवाई गई थी।
इन धाराओं में दर्ज हुआ था मुकदमा
उदयपुर एसपी विकास शर्मा का कहना है कि अभियुक्त भूपेंद्र सारण और सुरेश ढाका के विरुद्ध थाना बेकरिया में मामला दर्ज है। दोनों के खिलाफ सैकेंड ग्रेड टीचर भर्ती परीक्षा का पेपर लीक करने के संबंध में राजस्थान सार्वजनिक परीक्षा अधिनियम 1992 और 2022 एवं आईपीसी में मुकदमा दर्ज किया गया है। फिलहाल दोनों का पता नहीं चला है। दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए जिला पुलिस और आसपास के जिलों तथा अन्य राज्यों में संभावित स्थानों पर तलाश की गई थी। लेकिन दोनों का ही अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author