January 31, 2023

धंसी आंखों या खोखलेपन से पाएं छुटकारा, यहां देखें इस समस्या का कारण और बचाव

wp-header-logo-67.png

आंखों को धंसने से कैसे बचाएं

Sunken Eyes Problem: आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में हम सभी इतने व्यस्त हो गए हैं कि अपने खुद के शरीर की अच्छी तरह केयर नहीं कर पा रहे हैं। हमारे इस बिगड़े हुए लाइफस्टाइल और लापरवाही का असर हमारी सेहत पर पड़ता है। काम की वजह से हम अपनी नींद पूरी नहीं कर पाते हैं। दिनभर कंप्यूटर और लैपटॉप आदि में देखते रहते हैं और घर पर आकर फोन चलाने लगते हैं। इन सब कारणाें से हमारी आंखों पर बहुत बुरा असर पड़ता है। हमें डार्क सर्किल, रेडनेस, धंसी आंखें जैसी परेशानियां होने लगती हैं। इन समस्याओं में आंखें धंसी होना को गंभीर समस्या माना जाता है। हमारे शरीर में आंखें सबसे अधिक संवेदनशील होती हैं। ये उम्र बढ़ने, डिहाइड्रेशन या फिर किसी बड़ी बीमारी से ग्रस्त होने का संकेत देती हैं।
धंसी आंखों का क्या कारण?
इस समस्या में आंखें चेहरे में अंदर की ओर धंसी लगती हैं, जिससे आपका चेहरा खोखला सा नजर आने लगता है। बता दें कि धंसी आंखों की समस्या पैदाइशी भी हो सकती है। ऐसा जरूरी नहीं है कि इसमें दोनों आंखें प्रभावित होंगी, ये किसी एक या फिर दोनों आंखों को प्रभावित कर सकता है। अगर बात इस समस्या के कारणों की करें तो इसमें पारिवारिक इतिहास, डिहाइड्रेशन और नींद की कमी शामिल है। धंसी हुई आंखों की इस स्थिति को मेडिकल भाषा में एनोफथाल्मोस कहा जाता है। इस बीमारी में आंखों के नीचे गड्डे से दिखने लगते हैं और सॉफ्ट स्किन अंदर की ओर जाने लगती है। इस स्थिति के लक्षण एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में अलग हो सकते हैं। विशेषज्ञों के मुताबिक आंखों में सूखापन (dryness), दोहरी दृष्टि (double vision), ध्यान केंद्रित करने में परेशानी, ऑड आई (odd eye features) की विशेषताएं आदि, जो बीमारी के परिणाम हो सकते हैं।
धंसी हुई आंखों के लक्षण
आंखों के नीचे खोखला होना
आंखों के नीचे डार्क सर्किल दिखना
आंखों के नीचे पतली स्किन
आंखों के आसपास रेडनेस
आंखों की निचली पलक की स्किन का लटक जाना
चेहरे पर थकान नजर आती है।
आंखें धंसने के ये हैं कारण
इस समस्या की सबसे बड़ी वजह बढ़ती उम्र होती है क्योंकि बॉडी से कोलेजन प्रोटीन कम होने लगता है, जो शरीर को लचीलापन और ताकत देता है। प्रोटीन का स्तर कम हो जाता है, तो स्किन पतली और लटकने लगती है। चेहरे की त्वचा बहुत सॉफ्ट होती है, फिर जब त्वचा को सहारा नहीं मिलता है, तो स्किन लटकने के कारण ऐसा लगता है कि आंखें अंदर की ओर धंसने लगी है। इससे आंखों के नीचे खोखलापन बढ़ जाता है।
जब की इंसान अपना वजन कम करता है, तो शरीर के सभी हिस्सों में फैट कम होने लगता है। जैसे ही आपकी आंखों के आसपास की चर्बी कम होने लगती है, वैसे ही स्किन पतली भी हो जाती है और अंदर की ओर धंसी जाती है।
धूम्रपान शरीर में कोलेजन के स्राव (secretion) को कम करता है, जिसका रिजल्ट ये होता है कि चेहरे के आसपास की स्किन लटक जाती है। इसके साथ ही डिहाइड्रेशन की वजह से ना सिर्फ मुंह सूखता है बल्कि शरीर में कई बैक्टीरिया और वायरस बनने लगते हैं। पानी की कमी से बच्चों की आंखें धंसी हुई दिखने लगती है।
यह समस्या आंखों को कई तरह की परेशानियां दे सकती है। जब आपकी नींद पूरी नहीं होती हैं, तो आपकी आंखों के नीचे काले घेरे यानी डार्क सर्कल्स हो जाते हैं। अगर आप नींद पूरी नहीं करते हैं, तो आपकी मेंटल और फिजिकल हेल्थ, दोनों पर बहुत असर होता है और आंखें धंसी हुई लगने लगती है।
आंखें धंसने से बचाने के लिए उपाय
– धंसी हुई आंखों से छुटकारा पाने के लिए 7-8 घंटे की अच्छी नींद लेना बहुत जरूरी है।

– आंखों को धूप से बचाने के लिए हर तीन से चार घंटे में अच्छी क्वालिटी वाला सनस्क्रीन लगाएं।

– खीरे या आलू के स्लाइस को लगाने से स्किन ठंडी होती है और उस ब्लड फ्लो में सुधार होता है, जिससे थकान से नहीं होती है।

– गहरी धंसी हुई आंखों से छुटकारा पाने के लिए हरी पत्तेदार सब्जियों जैसे पालक, ब्रोकली, स्प्राउट्स, मेथी और बथुआ आदि का सेवन करें।

– हाइड्रेटेड रहने के लिए सही मात्रा में पानी पिएं। इस कारण आपकी स्किन तरोताजा और रूखेपन से बची रहेगी।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author