December 5, 2022

पाकिस्तानी महिला कप्तान ने सरेआम खोली PCB की पोल, बोली- नहीं बढ़ाई 8 साल से सैलरी

wp-header-logo-74.png

खेल: पाकिस्तान क्रिकेट टीम (Pakistan team) टी20 विश्व कप में (T20 WC) अपने प्रदर्शन के कारण हर किसी के निशाने पर है। पूर्व खिलाड़ी, फैंस और दुनियाभर के क्रिकेट जानकार टीम की आलोचना कर रहे हैं और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (PC B) को भी लताड़ लगाई जा रही हैं। इस बीच पाकिस्तान महिला टीम की कप्तान बिस्माह मारूफ ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है, जिसके बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड एक बार फिर सवालों के घेरे में आ गया है। दरअसल कप्तान बिस्माह (Bismah Maroof) मारूफ के मुताबिक पाकिस्तान बोर्ड ने 8 साल से उनका वेतन नहीं बढ़ाया है।
बिस्माह मारूफ ने किया खुलासा
बिस्माह मारूफ (Bismah Maroof) ने लाहौर में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस मुद्दे पर बात करते हुए कहा कि महिला खिलाड़ी (women players) भी पुरुषों की तरह ही कड़ी मेहनत करती हैं। ऐसे में सभी को समान वेतन मिलना चाहिए, जैसा कि भारत और न्यूजीलैंड (Ind and NZ) देशों में मिलता है। साथ ही, बिस्माह ने पीसीबी की पोल खोलते हुए कहा कि 8 साल से महिला खिलाड़ियों का वेतन (salary of women players) नहीं बढ़ा है। पाकिस्तानी बोर्ड (Pakistani board) को भारत, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया की बराबरी करने के लिए अभी और मेहनत करने की जरूरत है।
बिस्माह ने कहा, ‘मुझे लगता है कि महिला क्रिकेटर (women cricketers) भी काफी ज्यादा मेहनत करती हैं, लेकिन इसमें कोई शक नहीं कि पाकिस्तान में महिला क्रिकेट को भारत, इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों की बराबरी करने के लिए काफी तरक्की करने की जरूरत है।’ उन्होंने आगे कहा की बोर्ड ने खिलाड़ियों को कुछ इनाम (salary) जरूर दिया है और साथ ही अच्छी कोचिंग सुविधाएं भी दी हैं, लेकिन वेतन न बढ़ाना (coaching facilities) जरूर उन्हें और टीम को खटक रहा है।
बीसीसीआई ने पिछले महीने ही किया था बड़ा ऐलान
बता दें कि बीते कुछ सालों में महिला क्रिकेट( women’s cricket) के प्रति बढ़ी जागरुकता और इसकी लोकप्रियता के कारण उन्हें भी ज्यादा से ज्यादा मौके दिए जाने और उन्हें भी पुरुष क्रिकेटरों की तरह आर्थिक रूप से मजबूत करने की मांग बढ़ती जा रही है। महिला आईपीएल से लेकर महिला पीएसएल (IPL to Women’s PSL) जैसे टूर्नामेंटों को लेकर पुरजोर मांग रही है। इतना ही नहीं, महिला क्रिकेटरों को अपने देश के पुरुष क्रिकेटरों के बराबर वेतन की मांग तो काफी पुरानी है, जिस पर भारत और न्यूजीलैंड जैसे बोर्ड कदम उठा चुके हैं। बीसीसीआई ने पिछले महिने ही बड़ा ऐलान करते हुए भारतीय महिला क्रिकेट (Indian women’s cricket) टीम की मैच फीस को भी पुरुष क्रिकेटरों (male cricketers) के बराबर कर दिया था।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author