August 14, 2022

Knowledge News : आखिर सड़कों पर क्यों बनी होती हैं ये लाइनें, जानिए इनके पीछे का मतलब

wp-header-logo-106.png

Knowledge News : आखिर सड़कों पर क्यों बनी होती हैं ये लाइनें, जानिए इनके पीछे का मतलब
हमारे देश में अलग-अलग राज्यों से लेकर शहरों और कई गांवों तक पक्की सड़कें बन चुकी हैं। हम हर रोज सड़क से होकर कहीं न कहीं जाते हैं। कोई आम सड़क हो या फिर नेशनल हाइवे (National Highway), आपने उन पर बनी लाइनों को तो देखा ही होगा। ये लाइनें किसी जगह पर सफेद रंग की होती है तो कही पर पीली रंग (White and Yellow Line on Road) की बनी हुई दिखाई देती है। किसी जगह पर लाइनें टुकड़ो में तो कही पर बिल्कुल सीधी दिखाई देती है। लेकिन क्या आपने कभी ये सोचा है कि इन लाइनों का मतलब क्या होता है। अब आप सोच रहे होंगे कि ये लाइनें तो सिर्फ रोड को बांटने का ही काम करती हैं। लेकिन ऐसा नहीं है इन लाइनों का मतलब रोड को बांटने के साथ-साथ और भी बहुत कुछ होता है। आपमें से बहुत से लोग इस बारे में नहीं जानते होंगे तो चलिए हम आपको बताते है इन लाइनों का मतलब क्या होता है।
सीधी सफेद लाइन और पीली लाइन
सड़कों पर बनी दो सीधी सफेद और पीली रेखाओं का मतलब होता है कि आप अपनी खुद की लेन में चलते रहें, इस लाइन को पार न करें। चलते समय आप किसी भी वाहन को इस एरिया में ओवरटेक नहीं कर सकते हैं। हालांकि आप किसी मुश्किल से बचने के लिए या फिर सड़क से बाहर जाने के लिए इस लाइन को पार कर सकते है। इस सीधी सफेद और पीली लाइन को बैरियर लाइन भी कहा जाता है।
टूटी हुई सफेद और पीली लाइन
अगर आपको सड़कों पर एक सफेद और पीली रेखा दिखाई देती है। लेकिन वो टुकड़ों में है तो समझ लें कि आपको टूटी हुई सफेद और पीली लाइन के ऊपर से जाने की अनुमति होती है। ऐसा करते समय आपको थोड़ा सावधान रहने की जरुरत होती है। क्योंकि ऐसे में हादसे की संभावना भी बनी रहती है।
सड़क के किनारे पर पीले रंग की लाइन
अगर आपको सड़क के किनारे पर लगातार पीले रंग की लाइन बनी हुई दिखाई देती है तो इसका मतलब होता है कि आपको सड़क के किनारे पर कोई भी वाहन पार्क करने की अनुमति नहीं हैं।
गिव वे लाइन
सड़क पर इन समानांतर टूटी हुई सफेद लाइनों को गिव वे लाइन कहा जाता है और इसका मतलब होता है कि आपको विपरीत दिशा से आने वाले वाहनों को जगह देना है।
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author