January 30, 2023

स्कूल में दूध पीने से 16 बच्चियों की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती, अधिकारियों में मचा हड़कंप

wp-header-logo-53.png

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हाल ही प्रदेश में बाल गोपाल योजना शुरू की है, जिसके स्कूलों में कक्षा से 8वीं तक बच्चों को दूध पिलाया जा रहा है। प्रदेश के हनुमानगढ़ में इस योजना के तहत टाउन के सेठ राधाकिशन बिहाणी राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में दूध पीने से 16 बच्चियों की तबीयत खराब हो गई है। दूध पीने के बाद बच्चियों ने घबराहट, सिरदर्द और उल्टी होने की शिकायत की। इसके तुरंत बाद बच्चियों को तुरंत जिला चिकित्सालय के ट्रामा सेंटर में भर्ती करवाया गया, जहां उनका इलाज किया जा रहा है।
अधिकारियों में मचा हड़कंप
यह घटना सामने आने के बाद से जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। हनुमानगढ़ जिले में मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना का शुभारंभ इसी स्कूल से जिला कलक्टर रुक्मणि रियार ने किया था। योजना शुभारंभ के बाद आज पहली बार ही बच्चियों को दूध पिलाया गया था और पहली बार में ही बच्चियों की दूध पीते ही तबीयत बिगड़ गई। घटना के बाद शिक्षा विभाग और जिला प्रशासन के अधिकारी भी चिकित्सालय पहुंचे और बच्चियों से मुलाकात की। वहीं जिला चिकित्सालय से नर्सिंग स्टाफ ने भी स्कूल जाकर अन्य बच्चियों के स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली है।
कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्र-छात्राओं मिलेगा दूध
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मंगलवार को सीएमआर से मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना और मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म योजना की वर्चुअल शुरुआत की थी। यह कार्यक्रम जिला, ब्लॉक, ग्राम पंचायत मुख्यालय और स्कूल स्तर पर सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग के माध्यम से वीसी के जरिए प्रसारित किया गया था। हनुमानगढ़ में कलक्ट्रेट सभागार में जिला प्रमुख कविता मेघवाल, कलेक्टर रुक्मणि रियार, पंचायत समिति प्रधान प्रतिनिधि दयाराम जाखड़, जिला शिक्षा अधिकारी माध्यमिक हंसराज जाजेवाल सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी और जनप्रतिनिधि वर्चुअल कार्यक्रम में मौजूद रहे थे।
जिले में 1.31 लाख स्टूडेंट को दिया जाएगा दूध
मुख्यमंत्री बाल गोपाल योजना में मिड-डे-मील योजना के तहत सरकारी स्कूलों, मदरसों और विशेष प्रशिक्षण केन्द्रों के कक्षा 1 से 8वीं तक के छात्र-छात्राओं को सप्ताह में 2 दिन मंगलवार और शुक्रवार को पाउडर से तैयार दूध उपलब्ध कराया जाएगा। जिले में 1.31 लाख स्टूडेंट को दूध दिया जाएगा। वहीं मुख्यमंत्री निशुल्क यूनिफॉर्म वितरण योजना में कक्षा 1 से 8वीं तक के 1.27 लाख स्टूडेंट को यूनिफॉर्म फैब्रिक के 2 सेट निशुल्क दिए जाएंगे। प्रत्येक विद्यालय में विद्यार्थियों को निर्धारित दिनों में प्रार्थना सभा के बाद दूध वितरण किया जाएगा।
6 से 8वीं तक के बच्चों को 200 मिलीलीटर मिलेगा दूध
राजकीय विद्यालयों, मदरसों व विशेष प्रशिक्षण केंद्रों में बच्चों को पाउडर से तैयार दूध सप्ताह में दो दिन मंगलवार और शुक्रवार को उपलब्ध कराया जाएगा। इन दिनों में अवकाश होने पर अगले शैक्षणिक दिवस को दूध मुहैया कराया जाएगा। कक्षा एक से 5वीं तक के बच्चों को 150 मिलीलीटर और कक्षा छह से आठवीं तक के बच्चों को 200 मिलीलीटर दूध दिया जाएगा।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author