November 29, 2022

IND vs BAN: टीम इंडिया से हार के बाद बौखलाया बांग्लादेशी खिलाड़ी, कहा- मैच में विराट ने की फेक फील्डिंग

wp-header-logo-60.png

खेल: बुधवार को भारतीय टीम ने बांग्लादेश 5 रन से हराकर ग्रुप 2 में तीसरी जीत दर्ज कर ली (Ind defeated Ban) है। इस जीत के साथ भारतीय टीम ग्रुप में 6 अंक के साथ पहले स्थान पर पहुंच गई है। लेकिन इस बीच भारतीय टीम (Indian team) पर एक संगीन आरोप लग रहा है। दरअसल बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए मुकाबले को लेकर भारतीय टीम पर फेक फील्डिंग का आरोप लगा रहा है। बांग्लादेश के खिलाड़ी नूरुल हसन (Nurul Hasan) ने दावा किया कि मैच के दौरान विराट कोहली ने फेक फील्डिंग की थी और मैदान पर अंपायर उसे देख नहीं सके। अगर अंपायर उसे देखते हुए बांग्लादेश (Bangladesh) को पेनाल्टी के 5 रन मिल सकते थे जोकि टीम के लिए काफी अहम (important) हो सकते थे।
समझे क्या है पूरा मामला
नूरुल हसन (Noorul Hasan) ने कहा ‘हम सबने देखा कि मैदान पूरा गीला था। और जब इन सब चीजों के बारे में बात हो रही है तो मैच के दौरान एक फेक थ्रो भी था। इससे हमें पेनल्टी के पांच रन मिलते। वह भी हमें फायदा पहुंचा सकते थे लेकिन दुर्भाग्य से ऐसा नहीं हो सका।’ बता दें कि नूरुल हसन ने जिस फेक फील्डिंग का आरोप लगाया वह 7वें ओवर का है। इस वक्त लिटन दास विस्फोटक बल्लेबाजी कर रहे थे। इस क्रम में लिटन दास (Liton Das) ने अक्षर पटेल की गेंद पर डीप ऑफ साइड की तरफ शॉट खेला। गेंद पॉइंट पर फील्डिंग कर रहे विराट कोहली (Virat Kohli fake fielding) के पास से गुजरी, जिसे डीप में फील्डिंग कर रहे अर्शदीप सिंह (Arshdeep Singh) ने कलेक्ट किया और थ्रो किया। लेकिन इसी दौरान पॉइंट पर खड़े कोहली ने भी गेंद को विकेट पर थ्रो करने का नाटक किया। हालांकि उस समय अंपायर की इसपर नजर नहीं पड़ी। इस वजह से मैदानी अंपायर मरे इरास्मस और क्रिस ब्राउन (Murray Erasmus and Chris Brown) ने इस पर कोई ऐक्शन नहीं लिया। लेकिन मैच के बाद बांग्लादेश विकेटकीपर नुरुल (wicketkeeper Nurul) ने इसका जिक्र किया।
Law 41.5.1 states: “It is unfair for any fielder wilfully to attempt, by word or action, to distract, deceive or obstruct either batsman after the striker has received the ball,”

5 runs should have been awarded to Bangladesh here pic.twitter.com/t1a6Q0femn
क्या है क्रिकेट का नियम

आपको बता दें कि क्रिकेट के नियम (Law of Cricket) 41.5 के मुताबिक अगर कोई खिलाड़ी जानबूझकर बल्लेबाज को डिस्ट्रैक्ट करने की कोशिश करता है और अंपायर ऐसा करते हुए देख लेता हैं तो वह उस गेंद को डेड बॉल करार दे सकते हैं साथ ही बल्लेबाजी टीम को पेनल्टी के तौर पर 5 रन (5 runs as penalty) दे सकते हैं। अब बात करे विराट ने जो कल किया वह निसंदेह फेक फील्डिंग थी लेकिन इससे बल्लेबाज कतई प्रभावित नहीं हुए। यानी इसे बल्लेबाज की बाधा के तौर (obstacle for the batsman) पर नहीं देखा जा सकता है।

© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author