October 3, 2022

Health Tips: बैक मसल्स स्ट्रॉन्ग बनानें के लिए रेग्युलर करें ये योगासन, मिलेंगे ढेरों फायदे

wp-header-logo-27.png

Health Tips: बैक मसल्स स्ट्रॉन्ग बनानें के लिए रेग्युलर करें ये योगासन
Health Tips: मन-मस्तिष्क के साथ ही नियमित योगाभ्यास (Practice Yoga) करना, शरीर के सभी अंगों के लिए भी फायदेमंद होता है। इसके अभ्यास से शरीर के आंतरिक अंगों को मजबूती मिलती हैं। इतना ही नहीं अगर आप योगाभ्यास रोजाना करती हैं, तो शरीर की मांसपेशियां (Yoga for Strong Muscles) भी मजबूत बनती हैं। वैसे भी इन दिनों ज्यादातर महिलाएं अपनी बिजी और डिस्टर्ब लाइफस्टाइल (Busy and Disturb Lifestyle) की वजह से बैक मसल्स पेन (Back Muscles Pain) से काफी परेशान रहती हैं। योगा एक्सपर्ट (Yoga Expert) विकास (Vikas) का कहना है कि महिलाएं अगर नियमित रूप से सेतुबंधासन और हस्तपादासन करें तो इनसे छुटकारा पा सकती हैं। लेकिन शुरुआत में इन्हें किसी एक्सपर्ट की सलाह और देख-रेख में ही करें।
1. सेतुबंधासन (Setubandhasana)
विधि

सेतुबंधासन को करने के लिए सबसे पहले किसी हवादार स्थान पर योगा मैट बिछा लें। मैट पर पीठ के बल लेट जाएं। लंबी गहरी सांस लें और छोड़ें। अब अपने दोनों पैरों को घुटनों से मोड़ें। एड़ियों को हिप्स के पास लाएं। अपने दाएं हाथ से दाएं पैर को पकड़ें और बाएं हाथ से बाएं पैर को पकड़ें। इसके बाद हिप्स को जमीन से ऊपर उठाएं। कुछ देर इस अवस्था में रहने के बाद सामान्य अवस्था में आ जाएं। आप इस प्रक्रिया को 3-5 बार दोहरा सकती हैं।
लाभ
नियमित रूप से सेतुबंधासन करने से रीढ़ की हड्डी मजबूत बनती है। यह पैरों और हाथों की मांसपेशियों को भी मजबूत बनाता है। यह पूरे शरीर को लचीला बनाने में भी फायदेमंद है। इससे शरीर का रक्त संचार भी बेहतर होता है।
सावधानियां
हर्निया और हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को किसी एक्सपर्ट की सलाह पर ही इस आसन को करना चाहिए। गर्भवती महिलाएं इस आसन को ना करें। साथ ही अगर आपको जोड़ों से संबंधित कोई समस्या है, तो आपको इस आसन को करने से बचना चाहिए।
2. हस्तपादासन (Hastapadasana)
विधि

इस आसन को करने के लिए सबसे पहले एक योगा मैट पर सीधी खड़ी हो जाएं। अब अपने दोनों हाथों को धीरे-धीरे ऊपर की ओर ले जाएं। ध्यान रहे कि हाथ मुड़ने नहीं चाहिए। इस दौरान सांस की गति सामान्य रखें। अब धीरे-धीरे सांस छोड़ते हुए कमर से आगे की तरफ झुकें। अपने हिप्स को थोड़ा पीछे की तरफ ले जाएं। अपने दोनों हाथों के पंजों को पैरों के पास जमीन पर रखने की कोशिश करें। पैरों के बीच थोड़ी दूरी बनाकर रखें। इस स्थिति में 15-20 सेकेंड तक बनी रहें। इसके बाद सामान्य अवस्था में आ जाएं।
लाभ
इसके अभ्यास से हिप्स, घुटने और पीठ की मांसपेशियां मजबूत बनती हैं। इससे रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है। जांघ और हैमस्ट्रिंग के लिए भी हस्तपादासन बेहतरीन योगासन है।
सावधानियां
साइटिका और स्लिप डिस्क पेशेंट्स को हस्तपादासन नहीं करना चाहिए। पैरों में दर्द की शिकायत होने पर भी इसे ना करें। इसके अलावा अगर आप किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं, तो इस आसन को एक्सपर्ट की सलाह पर ही करें।
लेखक- ममता (Mamta)
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author