January 29, 2023

कश्मीर फाइल्स कंट्रोवर्सी पर विवेक अग्निहोत्री ने दे डाला खुला चैलेंज, कहा- गलत साबित करो तो फिल्म बनाना छोड़ दूंगा

wp-header-logo-5.png

विवेक अग्निहोत्री और नदाव लैपिड
The Kashmir Files: कश्मीर पर बनी फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ को लेकर एक बार फिर विवाद खड़ा हो चुका है। इजराइली फिल्ममेकर नदाव लैपिड ने विवेक अग्निहोत्री की फिल्म को वल्गर और प्रोपोगेंडा पर आधिरत बताया है। इसके बाद देशभर में फिल्म चर्चा का विषय बन चुकी है। इस बीच फिल्म के डायरेक्टर ने खुला चैलेंज दे डाला है। आइए जानते हैं कि कश्मीर फाइल्स पर दिए गए विवादित बयान के खिलाफ विवेक अग्निहोत्री ने क्या दावा किया है।

इजराइली फिल्म निर्माता नदाव लैपिड ने सोमवार को गोवा में आयोजित फिल्म फेस्टिवल में कश्मीर फाइल्स फिल्म की आलोचना की थी। इसके बाद से बी फिल्म को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। मूवी की स्टारकास्ट से लेकर फैंस इजराइली मेकर को जमकर खरी-खोटी सुना रहे हैं। इस बीच अब पूरे विवाद पर बेबाक ढंग से अपनी बात रखने वाले मशहूर डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री ने अपना रिएक्शन दिया है।
Courtesy: @W0KEFLIX pic.twitter.com/ny0YGg8BZR
विवेक ने दिया ऐसा रिएक्शन

विवेक अग्निहोत्री ने फिल्म को गलत और प्रोपोगेंडा बेस्ड बताने वालो पर रिएक्ट किया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा ‘700 लोगों के पर्सनल इन्टरव्यूज के बाद द कश्मिर फाइल्स को बनाया गया है। क्या आपको अब भी लगता है कि वो 700 लोग, जिन्होंने अपने मां-बाप, भाई-बहनों को सरेआम कटते हुए देखा और उनके परिवार की महिलाओं के साथ गैंग रेप होते देखा। जिन्हें दो टुकड़ों में बांट दिया गया। क्या ये सब लोग अश्लीन और प्रोपोगेंडा पर आधारित बातें कह रहे थे। उन्होंने अपनी बात को पूरा करते हुए कहा, जो पूरी तरह से कभी हिन्दू की जगह होती थी, आज वहां हिन्दू पाए ही नहीं जाते हैं। इतना ही नहीं उस धरती पर आज भी हिंदुओं को खोजकर मार दिया जाता है। क्या ये सारी बाते एक प्रोपेगैंडा और अश्लील है? यासीन मलिक अपने आतंक फैलाने के जुल्मों को कबूल कर जेल में सजा काट रहा है, क्या ये सब भी प्रोपेगैंडा और अश्लील बातों में शामिल है।’
Watch the truth in this documentary made by @ashokepandit. https://t.co/vNyo9q75hp
डायरेक्टर ने दिया खुला चैलेंज

द कश्मीर फाइल्स के डायरेक्टर ने लोगों को अपनी बात को समझाते हुए कहा कि ‘दोस्तों कुछ लोग बार-बार कश्मीर की घटना पर बनी फिल्म को सवालों के घेरे में खड़ा करते हैं। हर बार कहा जाता है कि कश्मीर फाइल्स एक प्रोपेगैंडा बेस्ड फिल्म है। क्या इसका मतलब यह हैं कि वहां कभी हिंदुओं का जिनोसाइड हुआ ही नहीं था। दोस्तों आज मैं इन बुद्धिजीवियों और अर्बन नक्सल व्यक्तियों को खुला चैलेंज देता हूं। साथ ही इजराइल से आए उस महान फिल्म निर्माता को भी सीधा चैलेंज देता हूं कि कश्मीर फाइल्स का एक डायलॉग, एक शॉट या एक इवेंट कोई साबित कर दें कि यह गलत है और सत्य पर आधारित नहीं हैं तो मैं खुद फिल्मे बनाना छोड़ दूंगा।’
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author