November 27, 2022

राजस्थान में रोजाना 17 महिलाओं-युवतियों से रेप, तीन साल से दुष्कर्म में नंबर 1

wp-header-logo-35.png

जयपुर। राजस्थान महिलाओं और युवतियों के लिए असुरक्षित बन चुका है। अपराधिक मामले में देश के सभी राज्यों को पछाड़ राजस्थान पहले पायदान पर बना हुआ है। मेहमान नवाजी और स्वागत-सत्कार के लिए दुनिया के नक्शे पर अलग पहचान रखने वाले प्रदेश के लिए ये आंकड़े शर्मिंदगी वाले हैं। हाल ही में जारी राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़ों के अनुसार राजस्थान महिलाओं के खिलाफ हिंसा, अत्याचार में देश में पहले नंबर पर है।
महिला बलात्कार में नंबर वन राजस्थान
एनसीआरबी के ताजा आंकड़ों के अनुसार, देशभर से 2020 और 2021 में राजस्थान में बलात्कार के सर्वाधिक मामले सामने आए हैं। रिपोर्ट के मुताबिक राजस्थान ने 2020 और 2021 में क्रमशः 5,310 और 6,337 बलात्कार के सबसे अधिक मामले दर्ज किए। इसके बाद मध्य प्रदेश 2020 और 2021 में बलात्कार के मामलों के मामले में लगभग समान संख्या के साथ दूसरे स्थान पर रहा है जहां 2020 में 2,339 मामले थे जो 2021 में बढ़कर 2,947 हो गए।
रेप के मामलों में 16.4 प्रतिशत की वृद्धि
राजस्थान में 2021 में दर्ज किए गए बलात्कार के मामलों की दर 16.4 प्रतिशत के साथ सबसे ज्यादा है। राजस्थान में 2021 में सबसे अधिक नाबालिग लड़कियों के साथ बलात्कार के 1.453 मामले दर्ज किए गए। वहीं कुल मिलाकर, पिछले साल देश में बलात्कार के 31,677 मामले दर्ज किए गए, जो पिछले 5 सालों में 2018 की तुलना में मामूली गिरावट को दर्शाता है।
सांप्रदायिक हिंसा में 5वें नंबर पर राजस्थान
इसके अलावा नेशनल क्राइम रिपोर्ट ब्यूरो की 2021 के डेटा के मुताबिक पूरे देश में सांप्रदायिक हिंसा के 378 मामले दर्ज किए गए हैं जिसमें से उत्तर प्रदेश में सिर्फ एक मामला दर्ज हुआ है वहीं बिहार में 51, महाराष्ट्र में 100, झारखण्ड में 77 और हरियाणा में 40 मामले दर्ज हुए है। इन मामलों में राजस्थान पांचवें नंबर पर है।
तस्करी में राजस्थान दूसरे नंबर पर
राजस्थान महिला अत्याचारों के साथ तस्करी के मामले में भी ज्यादा पीछे नहीं रहा है। यहां के कुछ जिलों से लगातार नाबालिगों की तस्करी कर पड़ोसी राज्यों में बेचा जा रहा है। गुजरात से सटे 4 जिलों सिरोही, उदयपुर, बांसवाड़ा और डूंगरपुर की बच्चियां इन गैंग्स का सॉफ्ट टारगेट हैं। यहां के कई गांवों की लड़कियों को किडनैप कर या नौकरी का लालच देकर दलाल अपने जाल में फंसा लेते हैं। कई महीनों तक बंधक बनाकर रखते हैं। जब तक खरीदार नहीं मिलताए दलाल इनके साथ रेप करते हैं।
 3 साल से रेप मामले में सबसे ऊपर राजस्थान
गौरतलब है कि रेप केस के मामलों में राजस्थान 2020 से टॉप पर है। इसके बाद से दुष्कर्म और महिला हिंसा को लेकर अपराध का ग्राफ बढ़ता जा रहा है। यही कारण है कि राजस्थान पिछले 3 साल से महिला हिंसा के मामलों में पहले पायदान पर रहा है।
पांच राज्यों सबसे अधिक रेप केस हुए दर्ज
साल 2021 में राजस्थानए एमपी के बाद महाराष्ट्रए यूपी और असम में सबसे अधिक मामले दर्ज हुए। छब्त्ठ के अनुसार यूपी में 2ए845 रेप केस रजिस्टर हुए। वहींए महाराष्ट्र में 2ए496 रेप केस रिपोर्ट हुए हैं। असम में 1733 जबकि दिल्ली में 1250 केस दर्ज किए गए।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author