August 18, 2022

Health Tips: प्रेगनेंट और बीमार महिलाएं भूलकर भी ना करें निर्जला व्रत, सेहत पर होगा बुरा प्रभाव

wp-header-logo-16.png

प्रेगनेंट और बीमार महिलाएं ना करें निर्जला व्रत

हिन्दू धर्म (Hindu Religion) में लोगों की मान्यताओं के मुताबिक बहुत से त्यौहार (Hindu Festivals) मनाएं जाते हैं, इनमें से बहुत से त्यौहार ऐसे होते हैं जिनमें महिलाएं व्रत रखती हैं। यह व्रत निर्जला (Nirjala Fasting) भी हो सकते हैं, इसलिए अगर आप स्वस्थ हैं तब तो व्रत रखा जा सकता है। लेकिन अगर आप प्रेगनेंट (Pregnant Ladies) हैं या डायबिटीज, बीपी, थायरॉइड की पेशेंट हैं तो निर्जल व्रत न करें। ऐसा करने से आपको स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हो सकती है। इनसे बचने के लिए एलबीएस अस्पताल की पूर्व एचओडी-गायनेकोलॉजी डॉ. अमिता सक्सेना ने कुछ बातों का ध्यान रखने की सलाह दी है।
प्रेगनेंट महिलाएं: प्रेगनेंट महिलाओं को डॉक्टर डाइट चार्ट के अनुसार खाना खाने की सलाह देते हैं। आमतौर पर डॉक्टर ऐसी महिलाओं को सामान्य दिनों की तुलना में अधिक खाना खाने को कहते हैं। इसलिए बेहतर तो यही है कि व्रत न रहें। अगर व्रत रखना ही है तो निर्जल व्रत भूलकर भी न करें। व्रत के दौरान फलाहार करती रहें। अच्छा होगा कि व्रत वाले दिन के लिए डॉक्टर से डाइट चार्ट बनवा लें, उसी के अनुसार खाएं। इसके अलावा झूला न झूलें और डांस करने से भी बचें, क्योंकि डांस और झूला झूलने से झटका लग सकता है, जो नुकसान पहुंचा सकता है।

डायबिटीज-बीपी-थायरॉइड पेशेंट: अगर आप डायबिटीज, बीपी, थायरॉइड जैसी किसी बीमारी से ग्रस्त हैं तो भी आपको निर्जल व्रत रखने से बचना चाहिए। अगर व्रत रखना जरूरी है तो फलाहार के साथ व्रत रखें। अगर आप डायबिटीज की मरीज हैं तो व्रत के दौरान मीठा फल या व्यंजन न खाएं। बीपी की मरीज हैं तो तला-भुना खाना न खाएं। सामान्यता महिलाएं व्रत खोलने के बाद अधिक तला-भुना खाना खा लेती हैं, जिससे परेशानी बढ़ने की आशंका रहती है। इसके अलावा सबसे जरूरी है कि आप जो दवा लेती हैं, उसे नियमित समय पर लेना न भूलें। कई महिलाएं व्रत में दवा नहीं खाती हैं लेकिन इसमें लापरवाही न करें। यहां बताई गई बातों का ध्यान रखते हुए आप हरियाली तीज का आनंद उठा सकती हैं।

प्रस्तुति-रिचा पांडे
© Copyrights 2021. All rights reserved.
Powered By Hocalwire

source

About Post Author