August 13, 2022

प्रतिभाओं को आगे लाने के लिए पंचायत क्षेत्रों में बनाएंगे खेल मैदान: बिरला

wp-header-logo-9.png

news website
कोटा. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला एवं स्वायत्त शासन एवं नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल के साथ श्रीनाथपुरम स्टेडियम में सिंथेटिक एथेलेटिक्स ट्रैक का शिलान्यास किया। इस अवसर पर लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि हमारे खिलाड़ियों में आत्मविश्वास, आत्मबल और समर्पण की भावना है। वे खेल मैदान में परिश्रम कर अन्तरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में पदक जीतने का जज्बा रखते हैं। हमारी जिम्मेदारी बनती है कि ऐसे खिलाड़ियों को तैयारी के लिए समुचित साधन और सुविधाएं मिलें। इसके लिए हम पंचायत स्तर तक खेल मैदान विकसित करने की कार्ययोजना बना रहे हैं।
उन्होंने कहा कि मिट्टी के ट्रैक पर बरसातों के दौरान खिलाड़ियों को अभ्यास करने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता था। हमने उनसे इस बारे में बात की तो उन्होंने सिंथेटिक ट्रैक की आवश्यकता जताई थी। खिलाड़ियों का सिंथेटिक ट्रैक के निर्माण का सपना पूरा हो रहा है। राजस्थान में खेल सुविधाओं के विकास पर तेजी से काम हो रहा है।
हमारी कोशिश होगा कि कोटा-बूंदी में भी अन्तरराष्ट्रीय मापदंड के अनुरूप सभी खेलों के मैदान तैयार किए जाएं। उन्होंने बताया कि बूंदी में 20 करोड़ की लागत से खेल संकुल का विकास किया जा रहा है। रामगंजमंडी और लाखेरी में 4.5-4.5 करोड़ की लागत से इंडोर स्टेडियम बन रहे हैं। इसके अलावा भी अनेक योजनाएं पाइपलाइन में हैं, जिनके धरातल पर आने से सबसे अधिक लाभ खिलाड़ियों को मिलेगा।
सात माह में मिलेगी सिंथेटिक ट्रैक की सौगात
श्रीनाथपुरम स्टेडियम में बन रहा 400 मीटर सिंथेटिक एथलेटिक्स ट्रैक 8 लेन का होगा। फुल पीयूआर सिस्टम से बन रहे इस सिंथेटिक ट्रैक को बनाने में करीब 7 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। निर्माण कार्य के लिए 12 माह का समय निर्धारित किया गया है, लेकिन अधिकारियों ने उम्मीद जताई है कि इसे सात माह में पूरा कर लिया जाएगा।
राज्य सरकार कर रही खेल सुविधाओं का विस्तार: धारीवाल
समारोह की अध्यक्षता करते हुए स्वायत्त शासन मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के लिए राज्य सरकार द्वारा खेल सुविधाओं का विस्तार किया गया है। जेके पेवेलियन स्टेडियम में 30 करोड़ की लागत से खेल संकुल बन रहा है। मल्टीपरपज स्कूल में भी हॉकी सहित कई खेल ग्राउण्ड विकसित किए जा रहे हैं। जिले के युवा खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय स्तर के मापदण्ड अनुसार खेल मैदान में तैयारी करने का अवसर मिले इसके लिए लगातार प्रयास जारी रहेंगे।
उन्होंने कोटा में हॉकी के लिए भी ऐस्ट्रोटर्फ ग्राउंड बनाने के लिए कुन्हाड़ी स्थित विजयवीर क्लब में खिलाड़ियों से चर्चा कर तैयार करवाने की इच्छा जताई। स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि कोटा में आगामी समय में किसी भी कॉलोनी में पेयजल की समस्या नहीं रहेगी अमृत योजना के द्वितीय चरण में 350 करोड़ रुपए का प्रावधान कोटा शहर के लिए किया गया है। महापौर राजीव अग्रवाल ने कहा कि खेलों इण्डिया के तहत 400 मीटर का सिंथेटिक बनने से कोटा के युवा खिलाड़ियों को सपने साकार करने का अवसर मिलेगा।
Your email address will not be published. Required fields are marked *







This is the News Website by Chambal Sandesh
Rajasthan, Kota
THIS IS CHAMBAL SANDESH YOUR OWN NEWS WEBSITE

  • एजुकेशन
  • कर्नाटक
  • कोटा
  • गुजरात
  • Chambal Sandesh

    source

    About Post Author