August 18, 2022

अजमेर डिस्कॉम इंजीनियर्स की शराब पार्टी और अश्लील डांस, रात 3 बजे तक डांसर संग लगाए ठुमके

wp-header-logo-30.png

जयपुर। इन दिनों राजस्थान के अजमेर डिस्कॉम के इंजीनियरों के अश्लील डांस के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है। वीडियो सामने आने के बाद डिस्कॉम प्रशासन ने आरोपियों के खिलाफ सख्त रुख अपनाया है। एमडी एनएस निर्वाण ने कार्रवाई करते हुए एसई विजिलेंस बीएस सोनी को एपीओ करते हुए झुंझुनूं कार्यालय में उपस्थिति देने के आदेश दिए है। इसके साथ ही रिटायर्ड एसईबीएस शेखावत को भी कारण बताओ नोटिस जारी किया है।
18 जून का बताया जा रहा है वीडियो
वायरल वीडियो 18 जून को पुष्कर के एक नामी होटल में आयोजित पार्टी का बताया जा रहा है। पार्टी एसई स्तर के इंजीनियर ने अपने रिटायरमेंट के पहले दी थी, जिसमें 11 जिलों से आए इंजीनियर एवं कर्मचारी शामिल हुए थे। इतने दिनों बाद यह वीडियो आपसी विवाद के बाद सामने आया।
शराब पार्टी और अश्लील डांस
डांस और शराब पार्टी के वीडियो को लेकर डिस्कॉम के इंजीनियरों एवं कर्मचारियों में खासी चर्चा है। पार्टी में शामिल कुछ इंजीनियरों ने बताया कि पार्टी में वीडियो बनाए जाने पर मनाही थी। मगर मदहोश होने के बाद वीडियो बनाए गए। अब आपसी विवाद के चलते वीडियो वायरल हुए है। वीडियो में कुछ इंजीनियर इस सीमा तक आपत्तिजनक अवस्था में दिखाई दे रहे है।
तीन अफसरों की बनाई जांच कमेटी
सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लिया। शुक्रवार को दिन में सोनी को एपीओ किया गया था। इसके बाद डिस्कॉम एमडी एनएस निर्माण ने सरकार की हिदायत के बाद देर रात सख्त कार्रवाई की। जांच कमेटी में चीफ अकाउंट ऑफिसर बीएल शर्मा, एक्सईएन मुकुल कुलश्रेष्ठ, जयपुर मुख्यालय के एक अधिकारी को शामिल किया है।
आपसी विवाद के चलते सामने आए वीडियो
पुष्कर की पार्टी के बाद विजिलेंस ऑफिस के कर्मचारियों ने फिर से पार्टी आयोजन का प्लान बनाया था। इससे विवाद हुआ और वीडियो सामने आ गए। 18 जून को पार्टी देने वाले इंजीनियर्स के लिए एक और पार्टी 30 जून को पुष्कर के एक अन्य होटल में हुई थी। इंजीनियरों से गिफ्ट, पार्टी और शराब के लिए 5.5 हजार व क्लर्क एवं हेल्पर से 1500- 1500 रुपए मांगे गए थे। इस पर शराब नहीं पीने वाले कर्मचारियों ने विरोध किया। मगर जबरन पैसे लिए गए। इसके बाद इंजीनियरों-कर्मचारियों के आपसी विवाद के चलते वीडियो वायरल हो गए।


राजस्थान में कौनसा मुद्दा गहलोत सरकार की असफलता को प्रमाणित करता है ?

View Results


क्या गुर्जर आरक्षण पर गहलोत सरकार द्वारा पारित विधेयक पुराने आश्वासनों का नया पिटारा है ?

View Results
Enter your email address below to subscribe to our newsletter

source

About Post Author