August 14, 2022

कन्हैयालाल के परिजनों से मिले CM, पीड़ित को त्वरित न्याय एवं अपराधियों को सख्त सजा मिले: गहलोत

wp-header-logo-2.png

news website
उदयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कन्हैयालाल के परिजनों को आश्वस्त किया एवं भरोसा दिलाया है कि इस जघन्य घटना में हम लोग सुनिश्चित करेंगे कि पीड़ित परिवार को त्वरित न्याय मिले एवं अपराधियों को सख्त सजा मिले और सरकार कोई कमी नहीं रखेगी। गहलोत ने कन्हैया लाल के निवास पर पहुंचकर दिवंगत आत्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की एवं शोकाकुल परिजनों से मिलकर ढांढस बंधाया।
इसके बाद उन्होंने कन्हैयालाल हत्याकांड को जघन्य अपराध बताते हुए कहा कि हम यह मामला फास्ट ट्रैक कोर्ट में चलाने का अनुरोध करेंगे और अपराधियों को सख्त से सख्त सजा दिलवाने की कोशिश होगी। उन्होंने कहा कि एनआईए ने यह मामला अपने हाथ में ले लिया है और वह इसके तमाम पहलूओं पर जांच करेगी, हम जांच में पूरा सहयोग करेंगे। इस अवसर गृह राज्यमंत्री राजेंद्र यादव, प्रदेश अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी मौजूद थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के निर्देश पर गृह राज्य मंत्री राजेंद्र यादव ने जशोदा साहू को राज्य सरकार की ओर से 50 लाख रुपए की सहायता राशि का चैक प्रदान किया।
घायल ईश्वर सिंह की कुशलक्षेम पूछी, सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश
मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी पुलिस ने बेहतर काम किया है अपराधियों को तत्काल गिरफ्तार कर लिया हैं। गहलोत महाराणा भूपाल अस्पताल पहुंचे जहां कन्हैयालाल पर हमले के समय घायल हुए ईश्वर सिंह से मिलकर उनकी कुशलक्षेम पूछी। उन्होंने ईश्वर सिंह की सुरक्षा बढ़ाने के निर्देश भी दिए।
हत्यारों के आतंकी कनेक्शन को लेकर अब सरकार व एनआईए के दावे अलग उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के मामले में अब एक नई थ्योरी भी सामने आ रही है। हत्यारों के आतंकी कनेक्शन को लेकर राजस्थान सरकार और एनआईए अलग-अलग दावे कर रही है।
घटना की जांच हाथ में लेने के बाद एनआईए ने दावा किया है कि फिलहाल हत्यारों का किसी आतंकी संगठन से लिंक सामने नहीं आया है। जबकि एक दिन पहले राजस्थान सरकार ने दावा किया था कि दोनों अंतरराष्ट्रीय संगठनों से जुड़े हुए थे। गहलोत ने कहा एनआईए एक महीने के अंदर इस मामले में जल्दी सजा दिला दे। एनआईए को समझना चाहिए कि प्रदेश के लोगों की भावना क्या है? कन्हैया को सुरक्षा दी गई या नहीं, क्या कमी रही, सभी चीजें एनआईए की जांच में सामने आ जाएगी। एनआईए की जांच पर भरोसा करना चाहिए, जांच निष्पक्ष होगी।
उदयपुर में कर्फ्यू तीसरे दिन भी जारी
उदयपुर. उदयपुर में कन्हैयालाल हत्याकांड के बाद उत्पन्न तनाव के बाद लगाए गए सात थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू गुरुवार को तीसरे दिन भी जारी रहा। कर्फ्यू के दौरान शांति बनी हुई हैं और कहीं से कोई अप्रिय खबर नहीं हैं। शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी पुलिस बल तैनात हैं। कर्फ्यू के दौरान आपातकालीन सेवाओं एवं परीक्षार्थियों को छूट प्रदान की गई हैं। उदयपुर में इंटरनेट सेवाएं भी बंद है।
उधर इस हत्याकांड के विरोध में गुरुवार को हिन्दू समाज के संगठनों ने मौन जुलूस निकाला तथा कलेक्ट्रेट पहुंचकर जिला प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। कर्फ्यू के चलते किसी तरह का अन्य प्रदर्शन नहीं किया गया तथा केवल मौन जुलूस निकाला गया। इस अवसर पर मौजूद विधायक फूल सिंह मीणा ने कहा कि इस मामले के ऐसे अपराधियों को सरेआम फांसी दी जानी चाहिए। उदयपुर जैसे शांति क्षेत्र में यह आतंकवादी हमला हैं जिसने पूरे शांत वातावरण को दूषित कर दिया हैं।
उदयपुर घटना के विरोध में जयपुर बंद
जयपुर में उदयपुर की घटना के विरोध में गुरुवार को बाजार बंद रहे। संयुक्त व्यापार महासंघ के आह्वान पर बंद के दौरान शहर के परकोटे सहित कई बाजार बंद रहे। हालांकि इस दौरान जरुरी सेवाओं वाली दवाइयों की दुकानें आदि खुली हुई। बंद को विश्व हिन्दु परिषद (विहिप) बजरंग दल सहित कई संगठनों ने समर्थन दिया।
कई टीमें बनाकर बंद को शांतिपूर्ण सफल बनाने के लिए बाजार में इसके लिए आग्रह भी किया जा रहा है। बंद के कारण दुकानें बंद रहने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा लेकिन इस दौरान कहीं से कोई अप्रिय खबर प्राप्त नहीं हुई। बंद के दौरान लोग अपने कामकाज पर रोजमर्रा की तरह ही जाते दिखे लेकिन बाजार में दुकानें बंद नजर आई। बंद के दौरान लॉ फ्लोर बसे एवं अन्य यातायात के साधनों पर कोई असर नहीं पड़ा और रोजमर्रा की तरह ही नजर आए। इस दौरान पुलिस ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया गया।
2 जुलाई को कोटा व अलवर बंद
उदयपुर घटना के विरोध में 2 जुलाई को अलवर व कोटा में बंद रहेगा। दोनों जगह विभिन्न व्यापारिक संगठनों एवं सर्वसमाज की और से गुरुवार को आयोजित बैठक में घटना की निंदा करते हुए एकमत होते हुए बंद का आह्वन किया।
दोनों मुख्य आरोपियों को 13 जुलाई तक न्यायिक हिरासत में भेजा
उदयपुर में अदालत ने कन्हैयालाल हत्याकांड के दोनों मुख्य आरोपियों को गुरुवार को न्यायिक हिरासत में भेज दिया। पुलिस के विशेष अनुसंधान दल (एसआईटी) ने इस मामले के दोनों मुख्य आरोपी रियाज और गौस मोहम्मद को कड़ी सुरक्षा के बीच जिला सत्र न्यायालय में पेश किया और उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में भेजने का अनुरोध किया। इस पर अदालत ने दोनों को 13 जुलाई तक 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार दोनों आरोपियों को जब अदालत में पेश करने के लिए लाया गया तब वकीलों ने घटना पर आक्रोश जताते हुए आरोपियों को फांसी दिए जाने की मांग की। अदालत के बाहर लोगों की भीड़ जमा हो जाने पर उन्हें अदालत के दूसरे दरवाजे से निकालकर जेल ले जाया गया।
Your email address will not be published. Required fields are marked *







This is the News Website by Chambal Sandesh
Rajasthan, Kota
THIS IS CHAMBAL SANDESH YOUR OWN NEWS WEBSITE

  • एजुकेशन
  • कर्नाटक
  • कोटा
  • गुजरात
  • Chambal Sandesh

    source

    About Post Author